पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कॉमन व पब्लिक एरिया पर इनहांसमेंट सेक्टरवासियों पर नहीं डाली जाएगी

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के सेक्टरों पर डाली गई एनहांसमेंट की रि केलकुलेशन का मुद्दे पर पाँच विधायकों बीबी बत्रा, राव दानसिंह, नीरज शर्मा, कुलदीप वत्स व अमित सिहाग द्वारा हरियाणा विधानसभा में दिये ध्यानाकर्षण नोटिस पर सरकार ने जवाब दिया है। हरियाणा स्टेट हुडा सेक्टर्स कान्फीड्रैशन की मांग पर उपरोक्त विधायकों ने विधानसभा में ध्यानाकर्षण नोटिस के माध्यम से मुख्यमंत्री व तीन जजों की कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर बनी पोलिसी को एचएसवीपी द्वारा लागू नहीं करने पर सरकार से सवाल किये थे। नोटिस के माध्यम से विधायकों ने कहा था कि कुछ कॉमन एरिया व पब्लिक एरिया पर एनहांसमेंट सेक्टरवासियों पर नहीं डाली जानी चाहिए।

विधानसभा में इन सवालों को उठाया

1. मुख्य विवाद पार्कों को लेकर है जो अनुसूचित मार्गों, स्टेट हाईवे व नैशनल हाईवे पर बनाये गये हैं, जैसे पानीपत, रोहतक, बहादुरगढ़, कुरुक्षेत्र समेत कई शहरों में बने ताऊ देवीलाल पार्क, करनाल में बना अटल पार्क आदि। ऐसे पार्कों की इनहांसमेंट सेक्टरवासियों से नहीं वसूली जानी चाहिये क्योंकि इनपर मालिकाना हक एचएसवीपी का है।

2. कई बङे शहरों में एचएसवीपी के पार्कों का इस्तेमाल सेक्टरवासियों के साथ- साथ आमजन भी करते हैं, ऐसे सभी पार्कों की इनहांसमेंट सेक्टरवासियों से नहीं वसूली जानी चाहिये। ऐसी ही स्थिति में बने जलघरों की जमीन की इनहांसमेंट भी सेक्टरवासियों से ना वसूली जाये।

3. तीन जजों की कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर बनी पोलिसी के ब्याज संबंधी नियम संख्या 2 के उपभाग 26(बी) को भी एचएसवीपी ईमानदारी से लागू नहीं कर करा है।

इन सेक्टरवासियों काे होगा लाभ

जलघरों की जमीन निकलने से हिसार के सेक्टर 3-5, 1-4, 9-11, 16-17 व 15 के सेक्टरवासियों को बङा लाभ होगा। हिसार के सेक्टरों में 100 एकङ से ऊपर जमीन जलघरों के निर्माण के लिए इस्तेमाल की गई है। जिसमें सेक्टर 3-5 में 38 एकङ व सेक्टर 15 में 16 एकड़ जमीन शामिल है।

खबरें और भी हैं...