किसानों ने बारिश से खराब हुई फसलों के मुआवजे की मांग की

Hisar News - शुक्रवार काे हुई तेज बरसात ने किसानों की गेहूं अाैर सरसों की फसल काे पूरी तरह से बर्बाद कर दिया है। फसलें धरती में...

Mar 29, 2020, 08:05 AM IST

शुक्रवार काे हुई तेज बरसात ने किसानों की गेहूं अाैर सरसों की फसल काे पूरी तरह से बर्बाद कर दिया है। फसलें धरती में पसर गई हैं। किसानों ने सरकार से मांग की है। वो उनकी फसलों की गिरदावरी करवाकर उचित मुआवजा दे। नारनौंद क्षेत्र के दर्जनों गांव में शुक्रवार को हुई तेज बारिश से फसलें पूरी तरह से तबाह हो गई। इससे किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें देखने को मिल रही हैं। किसान महामारी के चलते अपने खेतों में भी नहीं जा पा रहें। जब शनिवार को किसान फसल को देखने के लिए खेत में पहुंचे तो गमगीन हो गए। 6 महीने से तैयार की हुई फसल पूरी तरह से बर्बादी के कगार पर है। इस समय फसल में पानी की कोई जरूरत नहीं होती और तेज बारिश ने फसलों को पानी पानी कर दिया है। किसानों की तैयार फसल पानी भरने के कारण धरती में गिर गई। किसानों रामनिवास, सुभाष, गोपी राम, सत्यनारायण ,रामधारी, धर्मवीर, जयवीर इत्यादि ने बताया कि फसल पूरी तरह से पकने के कगार पर पहुंच चुकी है। लेकिन शुक्रवार को हुई बारिश के कारण फसलें धरती में पसर गई हैं। जो दाना तैयार हो रहा था वह नीचे गिरने के कारण काला पड़ जाएगा, जिसके कारण तैयार हुई हुई फसल पूरी तरह से खराब होने के कगार पर पहुंच गई है। उन्होंने कहा कि किसानों की सरकार से मांग है कि वह तुरंत ही गिरदावरी करवाकर किसानों को 50 हजार रुपये प्रति एकड़ मुआवजा देने का ऐलान करें।

इधर, तेज हवाओं से नेट हाउस फसल बर्बाद, लाखों का नुकसान

सुलखनी | खानपुर गांव में तेज हवाओं की वजह से नेट हाउस फसल बर्बाद हो गई। किसान बलजीत संजय ने बताया कि 3 महीने पहले नेट हाउस की फसल लगाई गई थी।जिस वजह से ढाई से तीन लाख का नुकसान हो गया।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना