पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पर्ची काउंटर के सामने बनाया फ्लू क्लीनिक यहां खांसी-जुकाम के मरीजों की होगी जांच

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

जिला स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना वायरस से बचाव एवं रोकथाम की जानकारी देने के लिए प्राइवेट वार्ड में कंट्रोल रूम स्थापित कर दिया है। यहां कर्मियों को तैनात करते हुए जनहित में हेल्पलाइन नंबर 70278-30252 जारी किया है। 24 घंटे किसी भी वक्त कोरोना वायरस संबंधित सूचना का आदान-प्रदान कर सकते हैं। इसके साथ ही पर्ची काउंटर के सामने फ्लू क्लीनिक बनाया है।

यहां डॉक्टर खांसी-जुकाम के रोगियों का इलाज करेंगे। स्टाफ नर्स व नर्सिंग स्टूडेंट उनकी ट्रेवलिंग हिस्ट्री हासिल करेंगी। अगर लगेगा कि खांसी-जुकाम के अलावा सांस लेने में ज्यादा तकलीफ है और वायरस प्रभावित देशों या इलाकों में घूमकर आए हैं तो उसके अनुसार ट्रीटमेंट किया जाएगा। इसके साथ ही अगर कोई रोगी वायरस संदिग्ध है मिलता है तो उन्हें अस्पताल के अंदरूनी परिसर में घूमने की जरूरत नहीं है। अस्पताल प्रबंधन ने इनके लिए बाहरी तरफ बैनर व साइन बोर्ड लगवा दिए हैं। इनके जरिए बाहर से होते हुए अस्पताल के पिछली तरफ प्राइवेट वार्ड में बने आइसोलेशन या अलगाव वार्ड में ले जाया जाएगा।

कोराेना वायरस के दुष्प्रभाव

गले में दर्द, जुकाम, खांसी, बुखार आना कोरोना वायरस के शुरुआती लक्षण माने जाते हैं। इसके अलावा पूरे दिन सिर दर्द रहना, नाक बहना, तेज खांसी आना, अस्वस्थ महसूस करना, छाती में दर्द होना एवं सांस लेने में दिक्कत होना आदि लक्षण हैं।

बचाव एवं रोकथाम


{वायरस से संभावित व्यक्ति को अलग रखें

{हाथ न मिलाए

{यात्रा न करने देने

{हाथों को एंटी सेप्टिक साबुन-लिक्विड से धोएं

{गुनगुना पानी का सेवन करें

{खांसते-छींकते हुए रूमाल का इस्तेमाल करें

मलेरिया विभाग में डॉ. जया ने व्यवस्थाओं की समीक्षा की

मलेरिया विभाग में डिप्टी सिविल सर्जन डॉ. जया गोयल ने कोरोना वायरस से बचाव एवं रोकथाम को लेकर चलाए जा रहें जागरूकता अभियान, बाहर से आए लोगों की हेल्थ रिपोर्ट सहित तमाम प्रबंधों की समीक्षा की। इसमें फिजिशियन डॉ. राम अवतार, डॉ. सुभाष खटरेजा, मैटर्न शशि बाला, नर्सिंग सिस्टम महेंद्री, सूक्ष्म जीवविज्ञानी और महामारी विद् सहित अन्य स्टाफ मौजूद था। डॉ. गोयल ने चेताया कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए फ्रंटलाइन पर काम करने वाले डॉक्टर, नर्सों और स्टाफ कर्मियों मास्क और ग्लव्ज पहनने की हिदायत दी।

सेंट्रल हेल्थ टीम तैयार कर रही ट्रेनर्स

भारत सरकार के अधीन सेंट्रल हेल्थ टीम कोरोना वायरस से बचाव, रोकथाम व इलाज संबंधित प्रशिक्षण देकर ट्रेनर्स तैयार कर रही है। इन ट्रेनर्स को सभी राज्यों में भेज रहे हैं ताकि वहां के स्वास्थ्य अधिकारियों व कर्मियों को वायरस संबंधित संपूर्ण जानकारी देंगे। बताएंगे कि कैसे इलाज करना है और कैसे मरीज की देखरेख करनी है।

सिविल अस्पताल में काेराेना वायरस संदिग्ध राेगी के इलाज, बचाव व राेकथाम की जानकारी देतीं डिप्टी सिविल सर्जन डाॅ. जया गाेयल व माैजूद स्वास्थ्य अधिकारी।

सिविल अस्पताल में पर्ची काउंटर के सामने बनाया खांसी-जुकाम राेगियाें की जांच के लिए फ्लू क्लीनिक।
खबरें और भी हैं...