8 साल में पहली बार लगातार चली लू, प्रदेश में जून में 84 फीसदी कम बारिश

Hisar News - सुशील भार्गव | राजधानी हरियाणा प्रदेश में अबकी बार लू 29 मई से लगातार चल रही है, ऐसा अमूमन नहीं होता। पिछले 8 साल में...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:45 AM IST
Hisar News - haryana news for the first time in 8 years it was 84 percent less rain in the state
सुशील भार्गव | राजधानी हरियाणा

प्रदेश में अबकी बार लू 29 मई से लगातार चल रही है, ऐसा अमूमन नहीं होता। पिछले 8 साल में पहली बार ऐसा हुआ है, जब लू लगातार चल रही है। पहले अप्रैल-मई और जून में लू का प्रकोप रुक-रुककर होता रहा है। वर्ष 2017 में जहां 12 दिन तक लू का प्रकोप रहा था, अबकी बार लगातार 10 दिन तक लू चल चुकी है, पारा 46 डिग्री या इससे भी अधिक दर्ज किया गया है। अबकी बार 30 जून तक लू का प्रकोप रहेगा। बीच-बीच में पश्चिम विक्षोभ राहत दे सकते हैं। अबकी बार प्री मानसून के 15 से 20 दिन देरी से आने के कारण भी अभी गर्मी का प्रकोप बढ़ सकता है। सीएम ने गुरुवार को आपदा प्रबंधन की बैठक में आदेश दिए कि सूखे की स्थिति से निपटने को तैयार रहें। चंडीगढ़ आईएमडी के निदेशक डॉ. सुरेंद्र पाल ने बताया कि वर्ष 2011 के बाद पहली बार देखने में आया है, जब लू का प्रकोप लगातार 10 दिन तक चला है।


करनाल | गुरुवार को लू से बचने के लिए चुनरी से मुंह ढककर जातीं छात्राएं।

सूखे की स्थिति से निपटने को रहें तैयार: सीएम

सीएम ने कहा कि जून एवं जुलाई महीने के दौरान पेयजल एवं बिजली के पर्याप्त प्रबंध करने के निर्देश देने के साथ-साथ बाढ़ एवं सूखे जैसी किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा। राज्य के किसी भी हिस्से से पेयजल की कमी, बाढ़ और पानी जमा होने से संबंधित कोई शिकायत नहीं आनी चाहिए। सीएम ने गुरुवार को वीडियो कांफ्रेंस के जरिए सभी उपायुक्तों के साथ प्रदेश में लू, सूखे एवं बाढ़ से निपटने के लिए की जा रही तैयारियों की समीक्षा करने के लिए बैठक की अध्यक्षता की।

यमुना के पानी से बाढ़ न आए, योजना जल्द होगी तैयार

सीएम ने आदेश दिए कि मानूसन के दौरान हथनीकुंड बैराज से पानी के अधिक बहाव के कारण करनाल और यमुना के साथ लगते गांवों में पानी के प्रवेश को रोकने के लिए समय रहते योजना तैयार की जाएगी। जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग को पानी के टैंकरों की पर्याप्त व्यवस्था करने के निर्देश दिए, ताकि जहां कहीं जब भी पेयजल की आवश्यकता हो उसे पूरा किया जा सके।

8 साल से मानसून में पूरी बरसात नहीं

वर्ष 2011-373.9 एमएम 18.8 % कम

वर्ष 2012-277.8 एमएम 39.6 %कम

वर्ष 2013-356.8 एमएम 22.5% कम

वर्ष 2014-200.1 एमएम 56.5% कम

वर्ष 2015-287.7 एमएम 37.5 %कम

वर्ष 2016-336.8 एमएम 26.8%कम

वर्ष 2017-341.9 एमएम 25.7 % कम

वर्ष 2018-415.2 एमएम 9.8 % कम

8 साल मंे लू के औसतन दिन

वर्ष दिन

2012 5

2013 5

2014 7

2015 5

2016 3

2017 12

2018 2

2019 10

इन जिलों मंे सूखे का दिखने लगा असर

महेंद्रगढ़ में मध्यम दर्जे का सूखा दर्ज किया है, जबकि रेवाड़ी, मेवात, फरीदाबाद, अम्बाला, यमुनानगर, पंचकूला में हलका सूखा, हिसार व रोहतक मध्यम भीगा हुआ दर्ज किया गया।

X
Hisar News - haryana news for the first time in 8 years it was 84 percent less rain in the state
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना