पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Hisar
  • Hisar News Haryana News Girdawari Of Bad Crops Will Happen 15 Thousand Farmers Have Applied For Compensation

खराब फसलों की गिरदावरी होगी, मुआवजे के लिए 15 हजार किसान कर चुके आवेदन

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
{25.50 लाख हेक्टेयर में गेहूं, 6.5 लाख हेक्टेयर में सरसों है

प्रदेश में शनिवार को भी बूंदाबांदी हुई। लगातार 4 दिन की बारिश-ओलावृष्टि से फसलों को काफी नुकसान हुआ है। सीएम मनोहर लाल ने भिवानी के कैरू में आयोजित रैली में फसलों में हुए नुकसान की भरपाई के लिए विशेष गिरदावरी कराने की घोषणा की है। वहीं कृषि विभाग देख रहे डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से जुड़े किसानों की इस योजना के तहत नुकसान की भरपाई होगी। वहीं, जो किसान योजना से नहीं जुड़े है, उनके नुकसान की भरपाई सरकार करेगी। प्रदेश के करीब 15 हजार किसानों ने फसल बीमा योजना के तहत नुकसान की भरपाई के लिए क्लेम किया है। इनमें रोहतक, भिवानी, पलवल, हिसार, महेंद्रगढ़, नारनौल, पलवल सहित अन्य जिलों के किसान हैं। यह आंकड़ा और भी बढ़ेगा। प्रदेश में करीब 25.50 लाख हेक्टेयर में गेहूं, 6.5 लाख हेक्टेयर में सरसों की फसल है। बाकी एरिया में चना, सब्जी, चारे समेत अन्य फसलें हैं।

तस्वीर हिसार की।

जिन्होंने बीमा नहीं कराया, उन्हें भी नुकसान की भरपाई की जाएगी

2015 में भी फसलों पर पड़ी थी मौसम की मार


फसल बीमा स्वैच्छिक, अब नया रोडमैप बनेगा


बीमा कंपनियों पर 15 करोड़ पहले से बकाया

1 जनवरी से अब तक 10 पश्चिमी विक्षोभ आ चुके हैं। करीब 72 मिमी. बारिश हो चुकी है। पिछले 24 घंटे में 16.7 मिमी. बारिश हुई है। साल 2015 में भी इसी तरह से फसलों पर बारिश-ओलों का कहर टूटा था।

कृषि विभाग के जॉइंट डायरेक्टर डॉ. डांढी के अनुसार अब केंद्र सरकार ने फसल बीमा स्वैच्छिक कर दिया है। इसलिए अब किसानों के लिए नया रोडमैप बनाया जाएगा। इसके लिए बड़े स्तर पर किसानों को जागरूक किया जाएगा।


कृषि विभाग के मुताबिक बीमा कंपनियों पर करीब 9 हजार किसानों की करीब 15 करोड़ रु. राशि बकाया पड़ी है। बैंकों की 330 शाखाओं व बीमा कंपनियाें को नोटिस जारी कर भुगतान करने को कहा है। 4 साल में 50 लाख किसानों ने फसल बीमा कराया।

आगे क्या: 11-12 को कहीं-कहीं ओले गिरने की भी संभावना


अब यह पश्चिम विक्षोभ निकल गया है। 11 मार्च को एक पश्चिम विक्षोभ असर दिखाएगा। इससे 2 दिन बरसात हो सकती है। तेज बारिश के साथ कहीं-कहीं ओले भी गिर सकते हैं। -डॉ. सुरेंद्र पाल, निदेशक, आईएमडी, चंडीगढ़
खबरें और भी हैं...