पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्राइवेट सेक्टर में राेजगार काे ट्रेंड करेगी एचएयू

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

यूजी औैर पीजी के बाद युवा बेराेजगार न हाे, इसी उद्देश्य से शनिवार काे एचएयू के एबिक सेंटर में 12 दिवसीय कृषि अनुसंधान और जलवायु-स्मार्ट कृषि दृष्टिकोण संबंधित ईंडों-यूएस अफगानिस्तान प्रशिक्षण कार्यशाला का उद्घाटन किया गया। जिसमें युवाओं काे हरियाणा अाेर विदेशों में कृषि के क्षेत्र में हाे रहे नए प्रयाेगाें के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। खास बात रही कि कार्यशाला में अमेरिका औैर अफगानिस्तान के वैज्ञानिकों ने भी भाग लिया। कार्यशाला के मुख्य अतिथि विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. के.पी. सिंह ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय अनुसंधान, आपसी संबंध व समझौते, अनु भावात्मक अधिगम कार्यक्रम, स्नातक व स्नातकोत्तर विद्यार्थियों के लिए निजी क्षेत्रों में रोजगार के अवसर तथा सामुदायिक समन्वयता को मजबूत करने पर बल दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि कार्यशाला के अंतरराष्ट्रीय प्रतिनिधि हमारे विश्वविद्यालय में मत्स्य विज्ञान महाविद्यालय, कृषि इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी महाविद्यालय, सेंटर फॉर बायोनैनोटैक्रोलॉजी, कृषि महाविद्यालय और संबंधित विभागों में जाकर कृषि संबंधी प्रयोग, तकनीक व अन्य सूक्ष्म जानकारियां हासिल करेगें। कहा कि हर व्यक्ति को शिक्षित, प्रशिक्षित व कौशल बनाना आधुनिक समय की मांग हैं और ऐसा करने से राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय उत्थान और विकास संभव हो सकता है।

अमेरिकी व हकृवि के वैज्ञानिक, अफगानिस्तान के वैज्ञानिकों व शोधार्थियों को कृषि की उत्पादन क्षमता में वृद्धि करने संबंधी मूल्य प्रणाली, कृषि अनुसंधान विस्तार शिक्षा व प्रशिक्षण को बढ़ावा देने संबंधित प्रशिक्षण देगें।

खबरें और भी हैं...