इनकम टैक्स / कांग्रेस नेता कुलदीप बिश्नोई के ठिकानों पर तीसरे दिन भी रेड जारी, मेनहोल तक खंगाले



कुलदीप बिश्नोई के आवास के बाहर तैनात पुलिसकर्मी। कुलदीप बिश्नोई के आवास के बाहर तैनात पुलिसकर्मी।
घर के बाहर मौजूद बिश्नोई समर्थक। घर के बाहर मौजूद बिश्नोई समर्थक।
X
कुलदीप बिश्नोई के आवास के बाहर तैनात पुलिसकर्मी।कुलदीप बिश्नोई के आवास के बाहर तैनात पुलिसकर्मी।
घर के बाहर मौजूद बिश्नोई समर्थक।घर के बाहर मौजूद बिश्नोई समर्थक।

  • विधायक के कारोबार से जुड़े लोगों की जुटाई जानकारी, बेटे भव्य से पूछे 150 सवाल
  • टीम घर की छत पर रखी टंकियों से लेकर पार्क और मेनहोल तक को खंगाल चुकी है
  • हरियाणा के पूर्व सीएम भजनलाल के बेटे हैं कुलदीप, पत्नी भी हैं विधायक

Dainik Bhaskar

Jul 25, 2019, 03:38 PM IST

हिसार. हरियाणा के पूर्व सीएम भजनलाल के बेटे और आदमपुर से कांग्रेस विधायक कुलदीप बिश्नोई के आवास, कार शोरूम और दिल्ली स्थित ठिकानों पर तीसरे दिन भी इनकम टैक्स की रेड जारी है। हिसार में उनके आवास के बाहर समर्थक भी जुटे हुए हैं। अभी तक कोई बड़ा खुलासा नहीं हो सका है। हालांकि टीम घर की छत पर रखी टंकियों से लेकर पार्क और मेनहोल तक खंगाल चुकी है। टीम मंगलवार सुबह 8 बजे से ठिकानों की जांच कर रही है।

 

सूत्रों की मानें तो आयकर विभाग को विधायक के दिल्ली में डायमंड कारोबार में मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े इनपुट मिले थे। अधिकारियों को इससे संबंधित साक्ष्य विधायक के ठिकानों पर छिपाने की सूचना थी। छापेमारी के दौरान ही अधिकारियों ने भव्य से उन करीबियों के बारे में भी पता किया, जो परिवार के कारोबार में साथ रहे हैं। बताया जा रहा है कि भव्य से 150 से अधिक सवाल-जवाब किए गए। इसके साथ ही पुलिस ने कुलदीप की कोठी के रास्ते पर बेरिकेडिंग लगा दिए हैं। 

 

भजनलाल परिवार के करीबियों पर भी नजर
सूत्रों के अनुसार, अफसरों ने घर और प्रतिष्ठानों में रखी हर अलमारी, दस्तावेज, इलेक्ट्राॅनिक सामान तक की जांच कर ली है। अब जांच परिवार के करीबियों व कामकाज संभालने वालों पर टिक गई है, ताकि पता लगाया जा सके कि कौन-कौन से कारोबार चल रहे हैं। परिवार के वर्षों से राजदार रहे मुनीमों की जानकारी जुटाई जा रही है।

 

रात भर भव्य को अंदर बैठाए रखा आयकर अधिकारियों ने

बुधवार सुबह करीब 11 बजे आयकर विभाग के अधिकारियों ने बिश्नोई आवास के बाहर खड़ी अपनी गाड़ियों से कुछ बैग मंगवाए। बैग आदि को देख कोठी के पास मौजूद विधायक के समर्थक भड़क गए। उन्होंने पहले तो अधिकारियों को भव्य को रातभर अंदर बैठाए रखने पर आपत्ति जताई।

 

फिर अधिकारियों से सामान अंदर ले जाने को लेकर ऐतराज किया। आयकर विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इसमें उनका लैपटॉप और सामान है। लेकिन फिर भी लोग नहीं माने। उन्होंने कहा कि बाहर से दस्तावेज या नकदी लाकर विधायक के परिवार को फंसाया जा सकता है। इसके बाद अधिकारियों और पुलिस ने लोगों को शांत करने के लिए बैग में रखा सामान दिखाया, तब मामला शांत हुआ।

 

1997 में पहली बार सीबीआई ने की थी रेड
आयकर विभाग ने 1997 में पहली बार पूर्व सीएम भजनलाल के परिवार के ठिकानों पर रेड की थी। जुलाई 1997 में सीबीआई ने मंडी आदमपुर स्थित आवास व दुकान पर छापा मारा था। तब मात्र एक शराब की बोतल मिली थी। जिसे जब्त कर मुनीम पर केस दर्ज किया गया था, क्योंकि उन दिनों चौधरी बंसीलाल की सरकार में शराबबंदी लागू थी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना