• Hindi News
  • Haryana
  • Hisar
  • Hisar News haryana news one lakh children in the state overcome trenchary science english 96 thousand weak in account books

प्रदेश में एक लाख बच्चों ने खाई साइंस-अंग्रेजी से मात, हिसाब-किताब में 96 हजार कमजोर

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:51 AM IST

Hisar News - सुशील भार्गव | राजधानी हरियाणा हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के दसवीं कक्षा की सालाना परीक्षा में करीब एक लाख...

Hisar News - haryana news one lakh children in the state overcome trenchary science english 96 thousand weak in account books
सुशील भार्गव | राजधानी हरियाणा

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के दसवीं कक्षा की सालाना परीक्षा में करीब एक लाख बच्चे अंग्रेजी व साइंस के पेपरों में फेल हो गए, जबकि मैथ यानी हिसाब में 96 हजार बच्चे कमजोर रहे और फेल हो गए। 86 हजार बच्चे इतिहास के पेपर में फेल हुए हैं। नृत्य एवं बैंकिंग के पेपर में पास प्रतिशत 100 फीसदी रहा। एग्रीकल्चर, ड्राइंग में 99 फीसदी से अधिक बच्चों ने परीक्षा पास की है। 9722 में से मात्र 65 विद्यार्थी ही परीक्षा पास नहीं कर पाए। होम साइंस में 5926 में से 308 फेल हुए हैं। कंप्यूटर साइंस में 2712 में से 123 बच्चे फेल हो गए हैं। फिजिकल एवं हेल्थ एजूकेशन में 171719 विद्यार्थियों मंे से 7799 फेल हो गए। कुल रिजल्ट 95.23 फीसदी दर्ज किया गया है।

प्रदेश में यमुनानगर सबसे पीछे रहा, यहां 42.24 फीसदी रिजल्ट रहा, पिछले साल यमुनानगर का रिजल्ट 41.99 फीसदी रहा था, जबकि चरखी दादरी 70.39 फीसदी के साथ पहले नंबर पर रहा। जबकि पिछले साल यहां 69.76 फीसदी रिजल्ट रहा था। 69.43 फीसदी रिजल्ट के साथ रेवाड़ी दूसरे स्थान पर रहा। इधर, 1299 प्राइवेट स्कूलों के 41337 बच्चों के 75 से 99 प्रतिशत तक अंक अाए हैं, जबकि 975 सरकारी स्कूलों के 16117 बच्चों ने 75 से 99 प्रतिशत तक अधिक अंक प्राप्त किए हैं। इसी प्रकार 358 सरकारी स्कूलों के 1404 बच्चों ने 90 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त किए हैं, जबकि 501 स्कूलों के 4540 बच्चों ने 90 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त किए हैं। शिक्षा विभाग के एसीएस पीके दास ने कहा कि अबकी बार ग्रामीण स्कूलों का परीक्षा परिणाम शहरी स्कूलों से 4.40 फीसदी अधिक रहा है।

ये हैं 4 होनहार बेटियां: जो प्रदेश में दूसरे स्थान पर रहीं
हिसार की निधि बोली
हिसार | मिलगेट एरिया स्थित कैप्टन आरसी सीनियर सेकंडरी स्कूल की छात्रा निधि प्रदेश में दूसरे अाैर जिले प्रथम स्थान पर रही। निधि की सफलता पर स्कूल में ढोल बजे। निधि ने कहा ऐसा लग रहा है कि जैसे मैं कोई सेलिब्रिटी बन गई हूं। मेला ग्राउंड में सेक्टर-21 में रहने वाली निधि चार बहनों में सबसे छोटी है। पिता दलबीर सिवाच प्रॉपर्टी डीलर हैं। माता सुशीला देवी हाउस वाइफ हैं। निधि का सपना आईएएस बनने का है।

एेलनाबाद की दिव्या
सिरसा | ऐलनाबाद के सरस्वती हाई स्कूल की दिव्या ने 496 अंक हासिल करके प्रदेश में संयुक्त रूप से दूसरा स्थान हासिल किया है। दिव्या एडवोकेट बनना चाहती है। दिव्या के पिता मुरलीधर मनिहारी की दुकान चलाते हैं और मां सुनीता गृहिणी हैं। दिव्या का कहना है कि वह समाजहित में वकील बनकर देश की सेवा करना चाहती है। जो लोग जरूरतमंद हैं, उनके लिए भी कुछ करने की इच्छा है। उनका सपना वकील बनने का है।

जानिए...किस जिले में कितने फीसदी रहा पास प्रतिशत

शहर प्रतिशत

अम्बाला 48.58

भिवानी 57.33

फरीदाबाद 46.42

फतेहाबाद 56.82

गुड़गांव 60.60

हिसार 60.62

झज्जर 68.22

जींद 60.08

करनाल 50.28

कैथल 56.67

कुरुक्षेत्र 54.86

महेंद्रगढ़ 68.84

पंचकूला 53.23

पानीपत 59.80

रेवाड़ी 69.43

रोहतक 59.72

सिरसा 57.22

सोनीपत 60.92

यमुनानगर 42.24

मेवात 61.45

पलवल 51.39

चरखी-दादरी 70.39

ये आंकड़े शिक्षा बोर्ड के हैं

दिव्या (लाल शर्ट में) का स्वागत ढोल बजा किया गया।

सिर पर ढोल उठाए निधि।

परिणाम बढ़ने के 3 मुख्य कारण

1 पेपर मूल्यांकन प्रक्रिया में संसाेधन, मासिक परीक्षा व ट्रांसफर पॉलिसी में अध्यापकों का परिणाम रिकॉर्ड जोड़ने से सुधरा परीक्षा परिणाम।

2 पहली बार मूल्यांकन स्टैप टू स्टैप मार्किंग पर हुअा। इस पैटर्न के तहत उत्तर का जितना हिस्सा सही था, उतने हिस्से के अंक परीक्षार्थी को मिले।

3 शिक्षकों की जवाबदेही तय की गई। उनकी एसीआर भी परिणाम पर निर्भर की गई है। इसके अतिरिक्त ट्रांसफर पॉलिसी में भी परिणाम का रिकॉर्ड जोड़ा गया। परिणाम के अनुसार जितने अंक शिक्षक को दिए गए।

पानीपत की तन्नू
पानीपत | पसीना कला की रहने वाली तन्नू ने हरियाणा में 496 अंक प्राप्त किए हैं। पिता रमेश चंद अाॅटाे रिक्शा चलाते हैं। मां बिंदाे देवी हाउस वाइफ हैं। पिता का सपना है कि बेटी आईएएस अफसर बने। पिता के सपने काे पूरा करने में दिन-रात एक कर पढ़ाई की अाैर मुकाम पा लिया। पिता ने बताया कि वह रात में जब भी जागते थे तभी बेटी पढ़ती नजर अाती थी। स्कूल के बाद वह अाठ- अाठ घंटे सेल्फ स्टडी करती थी।

फतेहाबाद की रितिका
फतेहाबाद | गांव गाजूवाला की रितिका ने बताया कि वैसे तो वह अधिकतर समय पढ़ाई को ही देती है, लेकिन परीक्षा के दिनों में तो मात्र तीन-चार घंटे ही सोती थी। वह गणित टीचर बनना चाहती है। उसकी बड़ी बहन अंजली ने भी 10वीं में 95 प्रतिशत अंक पाए थे। उसके पिता चरण सिंह दिल्ली में प्राइवेट जॉब करते हैं, जबकि मां सुलेंद्रा गृहिणी हैं। सरपंच विजय हरीपाल व प्रिंसिपल जय सिंह गोदारा ने कहा कि रितिका वास्तव में अच्छी छात्रा है।

ओवरआॅल रिजल्ट में सुधार



प्रदेशभर में दूसरा स्थान आने पर बेटी तन्नू का दुलार करतीं मां।

रितिका (मध्य में) को स्कूल में सम्मानित किया गया।

उर्दू-संस्कृत-पंजाबी में 95% पास

उर्दू में कुल 3055 विद्यार्थियों में 2938 पास हुए हैं, जबकि पास कुल रिजल्ट 96.17 फीसदी रहा। संस्कृत में 70343 में से 68124 पास हुए हैं, 2146 बच्चे फेल हो गए। परीक्षा परिणाम 96.85 फीसदी रहा, जबकि पंजाबी में 28134 में से 26913 पास हुए, कुल रिजल्ट 95.66 फीसदी रहा। डांस सब्जेक्ट में 100 फीसदी रिजल्ट आया है, इसमें सभी 94 विद्यार्थी पास हुए हैं। वहीं बैंकिंग एंड इंश्योरेंस में भी सभी 317 विद्यार्थी पास हो गए हैं।

Hisar News - haryana news one lakh children in the state overcome trenchary science english 96 thousand weak in account books
Hisar News - haryana news one lakh children in the state overcome trenchary science english 96 thousand weak in account books
Hisar News - haryana news one lakh children in the state overcome trenchary science english 96 thousand weak in account books
X
Hisar News - haryana news one lakh children in the state overcome trenchary science english 96 thousand weak in account books
Hisar News - haryana news one lakh children in the state overcome trenchary science english 96 thousand weak in account books
Hisar News - haryana news one lakh children in the state overcome trenchary science english 96 thousand weak in account books
Hisar News - haryana news one lakh children in the state overcome trenchary science english 96 thousand weak in account books
COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543