• Hindi News
  • Haryana
  • Hisar
  • Hansi News haryana news online slip started in civil hospital records of registered patient in hansi can now be seen in all government hospitals of the state

सिविल अस्पताल में आॅनलाइन पर्ची बननी शुरू, प्रदेश के सभी सरकारी अस्पताल में अब देखा जा सकेगा हांसी में पंजीकृत मरीज का रिकॉर्ड

Hisar News - सिविल अस्पताल में मरीजों की कंप्यूटराइज पर्ची बनेगी। काम शुरू हो गया है। नई व्यवस्था में हर मरीज का डाटा ऑनलाइन...

Jan 18, 2020, 07:40 AM IST
Hansi News - haryana news online slip started in civil hospital records of registered patient in hansi can now be seen in all government hospitals of the state
सिविल अस्पताल में मरीजों की कंप्यूटराइज पर्ची बनेगी। काम शुरू हो गया है। नई व्यवस्था में हर मरीज का डाटा ऑनलाइन रहेगा। चिकित्सक यूनिक हेल्थ आईडी के जरिए मरीज का रिकॉर्ड चेक कर सकेंगे।

सिविल अस्पताल में अभी यह प्रणाली ट्रायल के तौर पर चल रही है। ओपीडी, इमरजेंसी रूम, लैब व अन्य जगह कंप्यूटर लगाए गए हैं। कुल 21 कंप्यूटर लगाए गए हैं। ट्रायल एक सप्ताह तक चलेगा। इसमें अभी पर्ची काटने का काम चल रहा है। ट्रायल के सफल होने के एक माह के बाह इसे पूर्ण रूप से लागू कर दिया जाएगा। ई-उपचार योजना के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से चिकित्सकों और नर्सों को पहले ट्रेनिंग दी जा चुकी है। इस योजना से सिविल अस्पताल में पर्ची कटवाने, इलाज करवाने, दवा लेने और अन्य तरह का काम ऑनलाइन होगा। अस्पताल का हर तरह का रिकॉर्ड ऑनलाइन होगा। राऊटर के जरिए अस्पताल की जानकारी पंचकुला में स्वास्थ्य विभाग के हे ऑफिस में देखी जा सकेगी। इसके जरिए सिविल अस्पताल डिजिटल हो जाएगा। अस्पताल फिर अब ई-उपचार योजना के जरिए मरीजों का इलाज किया जाएगा। मरीज को इसके लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। जहां पर मरीजों की जानकारी दर्ज की जाएगी और उन्हें एक यूनिक हेल्थ आईडी नंबर दिया जाएगा। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के बाद मरीज को पर्ची कटवाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। मरीज को सिर्फ अपना यूएचआईडी नंबर बताने से ही उसकी सरकारी अस्पताल में करवाए गए उपचार की सभी जानकारी आ जाएगी। इसके साथ ही सिविल अस्पताल में लंबी लाइनें खत्म हो जाएगी। मरीज को चिकित्सक द्वारा जांच करवाने के लिए पर्ची लेकर जाने की जरूरत नहीं होगी। मरीज को लैब में जाना होगा, मरीज का क्या और कौन सा टेस्ट करना है, यह जानकारी लैब अटेंडेंट को ऑनलाइन मिल जाएगी। लैब टेक्नीशियन टेस्ट भी रिपोर्ट को ऑनलाइन डालेगा। कोई भी चिकित्सक मरीज के यूएचआईडी नंबर से रिपोर्ट को कभी भी देख सकेगा। सिविल अस्पताल में प्रथम तल पर इसका सर्वर रूम बनाया जाएगा। जहां से ऑनलाइन सारा काम आपरेट होगा। कोई समस्या न आए इसके लिए दो तकनीकी एक्सपर्ट अस्पताल में रहेंगे।

सिविल अस्पताल में कंप्यूटराइज पर्ची बनाते कर्मचारी।

पेपर लैस हो जाएगा काम

मरीज के सिविल अस्पताल में उपचार के लिए पर्ची, दाखिले के लिए पर्ची व आदि के लिए काफी कागज लगते हैं। ई उपचार से सारा कार्य पूरी तरह से पेपर लैस हो जाएगा।

पर्ची कटनी हुई शुरू


X
Hansi News - haryana news online slip started in civil hospital records of registered patient in hansi can now be seen in all government hospitals of the state
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना