पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हमारा ए ग्रेड का स्टेशन, पर नहीं है बेबी फीडिंग रूम

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

इसे विभागीय अधिकारियों की अनदेखी कहा जाएगा या फिर कुछ औैर ए ग्रेड का रेलवे स्टेशन हाेने के बावजूद हिसार रेलवे स्टेशन पर महिला यात्रियाें के लिए बेबी फीडिंग रूम की स्थापना नहीं कराई गई है। इसके अलावा पास के भिवानी औैर सिरसा रेलवे स्टेशन पर भी रूम नहीं बनाया गया है। हालांकि यह दाेनाें रेलवे स्टेशन ए ग्रेड के नहीं है। हैरत की बात है कि अधिकारी बेबी फिडिंग रूम बनाने की तरफ अभी भी गंभीर नहीं है। िजसकाे लेकर महिला यात्रियाें में रेलवे अधिकारियों के प्रति आक्रोश पनप रहा है।

हिसार रेलवे स्टेशन काे ए ग्रेड का दर्जा दिया गया है। जिस पर यात्रियाें के लिए स्वचलित सीढ़ियाें से लेकर लिफ्ट की भी सुविधा उपलब्ध कराई गई है। हैरत की बात है कि अभी तक भी बेबी फिडिंग रुम स्थापित नहीं किया गया है। महिला यात्री राजेश्वरी , माेनिका, रितिका, का कहना है कि बेबी फिडिंग रूम नहीं हाेने के कारण महिलाओं काे खुले या फिर वेटिंग रूम में जाकर स्तनपान कराने काे मजबूर हाेना पड़ता है। बार बार मांग के बावजूद बेबी फिडिंग रुम का निर्माण नहीं कराया जा रहा है। यहीं हालत भिवानी औैर सिरसा रेलवे स्टेशन पर भी है। यहां पर भी बेबी फिडिंग रूम नहीं है। जिसके कारण यहां भी महिला यात्रियाें काे परेशानी हाेती है। दैनिक रेल यात्री संघ के सुनील कुमार, मनाेज का कहना है कि रेल मंत्री औैर विभाग के अन्य अधिकारियों काे रेलवे स्टेशनाें पर बेबी फिडिंग रुम के लिए पत्र लिखा गया है। मामले काे लेकर जल्द बीकानेर डिविजन के डीआरएम से भी िमलेंगे।

खबरें और भी हैं...