हम हजारों फीट ऊंचाई पर कई बार फंसे, हिम्मत नहीं हारी, रुककर फिर आगे बढ़े

Hisar News - कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सरकार ने 14 अप्रैल तक पूरे देश में लॉकडाउन किया है। जिससे देशभर में जो जहां...

Mar 28, 2020, 07:45 AM IST

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए सरकार ने 14 अप्रैल तक पूरे देश में लॉकडाउन किया है। जिससे देशभर में जो जहां हैं, वहीं 21 दिन के लिए ठहर गया है। ऐसे में हमने उन माउंटेनियर्स से बात की जोकि अगले कुछ दिन में अपने किसी खास मिशन के लिए निकलने वाले थे, मगर अब वो भी लॉकडाउन की वजह से घरों में ही हैं। हमने इन माउंटेनियर्स से बात करके यह जानने की कोशिश की कि कैसे घरों में रह कर ये खुद को फिट और फाइन रख रहे हैं। खाली समय में किस तरह से अपने परिवार के साथ क्वालिटी टाइम बिता रहे हैं।

रोहतास खिलेरी सुबह 4 बजे उठ करते हैं वर्कआउट, फिर घर के कामों में बंटाते हैं हाथ

माउंट एवरेस्ट, किलिमंजारो और एलब्रुस जैसी चोटियों को फतह कर चुके रोहतास अपने दिन की शुरुआत सुबह 4 बजे योग, एक्सरसाइज और मेडिटेशन करके करते हैं। वो 1 अप्रैल को माउंट एवरेस्ट में 24 घंटे रुकने का रिकॉर्ड बनाने के लिए निकलने वाले थे। मगर लॉकडाउन होने से उनका यह प्लान कैंसिल हो गया। अब घर में रहकर ही वर्क आउट कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि अब उन्हें मां-पिता की मदद करने का मौका मिल पाया है। वो घर की भैंसों को नहलाने और दूध निकलने में पिता का साथ दे रहे हैं। उन्होंने लोगों से अपील की कि बेवजह अपने घर की लक्ष्मण रेखा को पार कर बाहर न निकलें।

अनीता कुंडू आज देश के सामने चुनौती इससे निपटने के लिए आप धैर्य रखें

तीन बार माउंट एवरेस्ट की चोटी पर तिरंगा फहराने वाली अनीता कुंडू 8 मई को उत्तर अमेरिका की चोटी अलेस्का की चढ़ाई के लिए निकलने वाली थी। मगर उससे पहले ही लॉकडाउन की वजह से उनकी ट्रेनिंग रुक गई। वह कहती हैं कि हम माउंटेनियर्स बहुत बार-बार हजारों फीट ऊंचाई पर खराब मौसम की वजह से फंस जाते हैं। मगर हम हिम्मत और हौसला नहीं खोते तो कुछ समय बाद आगे बढ़ने का मौका भी मिलता है। आज देश में ऐसी ही कंडीशन है तो यहां भी जरूरत उसी हौसले और हिम्मत की है। सरकारी निर्देशों का पालन करें। घरों से बाहर न निकलें। वह सुबह-शाम साइकिलिंग, रोपिंग, योग और मेडिटेशन करती हैं।

मनीषा पायल अपनी फैमिली के साथ बिता रही हूं क्वालिटी टाइम, आप भी घर पर रहें

एवरेस्ट सहित किलिमंजारो जैसी कई चोटियों पर पहुंच रिकॉर्ड बना चुकी है मनीषा पायल। जुलाई में रशिया की चोटी की चढ़ाई के लिए ट्रेंनिग ले रही थी। लॉकडाउन की वजह से अब वह घर में है। मनीषा ने बताया कि अक्सर चाहते हुए भी वो अपनी फैमिली के साथ समय नहीं बिता पाती तो अब मिले इस समय को वो अपने परिवार के साथ क्वालिटी टाइम तब्दील कर रही हैं। लोगों से अपील है कि आप भी मेरी तरह अपने परिवार की रक्षा और बचाव करते हुए घर में रहें। मनीषा सुबह अपने घर की छत पर वर्कआउट करती है और कुछ समय घर के पौधों की देखभाल में भी निकलती हैं।

अनीता कुंडू, माउंटेनियर।

रोहतास खिलेरी माउंटेनियर।

मनीषा पायल, माउंटेनियर।

X

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना