खुलासा / बिना व्यापार किए जीएसटी में 214 करोड़ की हेराफेरी



214 crore manipulation of GST without trade
X
214 crore manipulation of GST without trade

  • हरियाणा के 4 कारोबारियों का बिहार में फर्जीवाड़ा
  • 214 करोड़ की बिलिंग की, ई-वे बिल भी जेनरेट किया

Dainik Bhaskar

Jan 12, 2019, 03:42 AM IST

पटना. वाणिज्य कर विभाग के अन्वेषण ब्यूरो ने जीएसटी में हेराफेरी के बड़े मामले का खुलासा किया है। हरियाणा के 4 कारोबारियों ने बिना कारोबार किए 214 करोड़ की न केवल बिलिंग की, बल्कि ई-वे बिल भी जेनरेट किया। यह सब इनपुट टैक्स क्रेडिट का लाभ लेने के लिए किया गया। यानी, बिना टैक्स चुकाए ही टैक्स की राशि की वापसी।

 

मामला तब पकड़ में आया, जब ब्यूरो की ट्रैकिंग टीम को एक ही ट्रक पर डेढ़ करोड़ से अधिक मूल्य के वस्तुओं के परिवहन के लिए ई-वे बिल बनाने का पता चला। शक होने पर जब टीम जांच करने वैशाली गई तो पता चला कि जो एड्रेस दिया गया है, वह फर्जी है। रजिस्ट्रेशन के समय जो पैन व आधार दिए गए थे, वे हरियाणा के कारोबारियों के हैं।

 

चारों कारोबारियों ने वैशाली जिले के चार स्थानों का फर्जी पता देकर जीएसटी के तहत रजिस्ट्रेशन कराया। दिल्ली स्थित फर्जी फर्म के नाम से बिल काटकर माल भेजने के लिए ई-वे बिल जेनरेट किया। हकीकत में इतनी राशि के माल का न कोई खरीदार था, न बेचने वाला। विशेष साॅफ्टवेयर बिजनेस इंटेलीजेंस की मदद से मामला पकड़ में आया।

COMMENT