हरियाणा रोडवेज / 1 रु. ज्यादा किराया लेना पड़ा मंहगा, ब्याज समेत लौटाने को तैयार, पीड़ित कैशलेस भुगतान पर अड़ा



श्रवण कुमार। श्रवण कुमार।
X
श्रवण कुमार।श्रवण कुमार।

  • 2014 में कंडक्टर ने आसाखेड़ा गांव से डबवाली तक 17 के बजाय लिया था 18 रुपए किराया
  • 5 साल बाद रोडवेज ब्याज समेत 1.32 रु. लौटाने को तैयार, पर पीड़ित कैशलेस भुगतान पर अड़ा

Dainik Bhaskar

Jun 30, 2019, 08:35 AM IST

डबवाली. सिरसा रोडवेज के लिए गांव आसाखेड़ा निवासी यात्री से रोडवेज बस में गांव से डबवाली तक 2014 में की गई यात्रा में लिया अतिरिक्त एक रुपया किराया लाैटाना मुश्किल हो गया है। यात्री ने मामले में ब्याज समेत रुपया वापस पाने के लिए सीएम विंडो में शिकायत की है। 


जांच में जीएम ने बुलाकर यात्री को ब्याज समेत रुपया नकद वापस लौटाने का वादा किया है, लेकिन यात्री अपना रुपया कैशलेस तरीके से लेने पर अड़ा है। इससे रोडवेज के लिए मामले का निपटारा करना मुश्किल हो गया है। वहीं, यात्री अपने पैसे वापस पाने के लिए कोर्ट की शरण में जाने काे तैयार है। 


बता दें कि राेडवेज के परिचालक ने अासाखेड़ा निवासी श्रवण कुमार से 17 की बजाए 18 रुपए किराया वसूल किया था। सीएम विंडो की शिकायत का निपटारा करने के लिए सीएम अाॅफिस ने राेडवेज मुख्यालय को आदेश दिए हैं। रोडवेज मुख्यालय ने जीएम सिरसा को जांच कर निपटारे के आदेश दिए, लेकिन रोडवेज जीएम के लिए इस शिकायत का निवारण करना मुश्किल हो गया है। गौरतलब है कि यात्री श्रवण ने रोडवेज बस में 3 फरवरी 2014 में गांव आसाखेड़ा से डबवाली की यात्रा की। कंडक्टर ने 17 रुपए की बजाय 18 रुपए किराया वसूल किया गया। श्रवण ने तत्कालीन जीएम को अपनी टिकट लगाकर शिकायत कर दी और मामले में मई 2015 में जांच में कंडक्टर मनाेज कुमार काे एक रुपया अधिक किराया लेने का दोषी पाया गया। कंडक्टर पर रोडवेज विभाग ने एक हजार रुपए जुर्माना लगाया था, लेकिन शिकायतकर्ता को रुपया वापस नहीं किया गया। 


इधर, यात्री ने एक रुपया वापस लेने की जिद पकड़ ली। वर्ष 2016 में रोडवेज जीएम को शिकायत तो सुनवाई नहीं हुई। दिसबंर 2017 में फिर शिकायत की तो तत्कालीन जीएम विजय सिंह मलिक ने जनवरी 2018 में जांच के लिए बुलाकर सिरसा ऑफिस में धमकी दी और एक रुपया वापस ले लेने पर रोडवेज को ताला लगा देने का दावा कर दिया था।

 

इसके बाद पीड़ित ने सीएम विंडाे में एक रुपया ब्याज और हर्जाना समेत वापस देने की मांग की हुई है। इस बारे में सिरसा रोडवेज के अकाउंट्स ऑफिसर अश्वनी मदान ने बताया कि एक रुपया किराया ज्यादा लेने के मामले में यात्री को ब्याज समेत रुपए देने काे रोडवेज तैयार है, लेकिन यात्री चेक मांग रहा है। डिपो की ओर से ऐसी व्यवस्था नहीं होने से मुख्यालय से ही भुगतान संभव हो सकता है। फिलहाल मामले में जीएम जो आदेश करेंगे। उनकी पालना की जाएगी।

 

अधिकार और जागरूकता की लड़ाई: श्रवण
सिरसा रोडवेज जीएम केआर कौशल ने यात्री को मामले की जांच के तहत 26 जून काे सिरसा बुलाया और जांच करते हुए 1.32 रुपए का हकदार बताया है। जीएम नकद रुपया वापस देेना चाह रहे हैं। यात्री ने पैसे नकद लेने से मना कर दिया। यात्री श्रवण ने एक रुपया ब्याज समेत सरकारी खजाने से कैशलेस तरीके से वापस लेने पर अड़ गया है। शिकायतकर्ता श्रवण कुमार ने कहा कि उसकी लड़ाई नहीं, बल्कि यात्री के अधिकार और जागरूकता की मुहिम है। जिससे एक रुपए का ब्याज और हर्जाने समेत पाने के लिए कोर्ट की शरण भी लूंगा, लेकिन अभी सीएम विंडो पर न्याय की उम्मीद है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना