इनेलो में राजनीति / दादा पर दोनों पोतों को निलंबित करने की चर्चा, दिग्विजय बोले-सब अफवाह

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2018, 05:30 PM IST



दिग्विजय चौटाला। (फाइल) दिग्विजय चौटाला। (फाइल)
X
दिग्विजय चौटाला। (फाइल)दिग्विजय चौटाला। (फाइल)

  • दिग्विजय चौटाला ने प्रेसवार्ता कर कहा परिवार में कुछ गलत नहीं चल रहा। ओपी चौटाला की लीडरशिप में हम एक हैं  

चंडीगढ़/पानीपत। इनेलो में चल रही पारिवारिक कलह के बीच सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला ने अपने दोनों पोतों को पार्टी से निलंबित करने की चर्चा गरम है। सूत्रों के हवाले से जानकारी मिल रही है कि ओपी चौटाला ने सांसद दुष्यंत चौटाला और दिग्विजय चौटाला को निलंबित करते हुए एक नोटिस जारी किया है। जिसका 7 दिन के अंदर जवाब देना है। जवाब न देने पर आगे की अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। वहीं दिग्विजय चौटाला ने सभी अफवाह बताई हैं। उनका कहना है कि परिवार में ऐसा कुछ भी नहीं चल रहा है। ओपी चौटाला की लीडरशिप में हम एक हैं। 
 

 

ये पत्र भेजे जाने की चर्चा
इंडियन नेशनल लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश चौटाला के निर्देश पर गोहाना में 7 अक्टूबर 2018 को जननायक चौधरी देवीलाल की 105वीं जयंती सम्मान समारोह के दौरान पार्टी विरोधी गतिविधियों के बारे में नोटिस देने का निर्देश मिला है। आप पर ऐसी गतिविधियों में शामिल होने का आरोप है जो इनेलो के लिए हानिकारक और सम्मान समारोह रैली के दौरान आप पर बड़ी अनुशासनहीनता और उपद्रव करने का आरोप है। 
 आप पर प्रदेश के इतिहास में सबसे बड़ी रैली के दौरान पार्टी के अंदर वैमनस्य और इनेलो के विरोधियों के साथ मिलकर षडयंत्र करने का आरोप है।

 

इसलिए आपको पार्टी की प्राथमिक सदस्यता और दूसरी जिम्मेदारियों से तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाता है। इसलिए आपको लिखित नोटिस मिलने के 7 दिन के भीतर जवाब देने के लिए कहा जाता है। जवाब नहीं मिलने पर आपके खिलाफ आगे की अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। 
 

 

दुष्यंत ने साधी चुप्पी
इस मामले पर दुष्यंत चौटाला ने चुप्पी साधी हुई है। उन्होंने इस बारे में कोई बयान नहीं दिया है। वहीं एक दिन पहले इनेलो के राष्ट्रीय कार्यकारिणी में हुए बदलाव पर जरूर दुष्यंत चौटाला ने अपनी प्रतिक्रिया दी थी। उन्होंने कहा था कि वे ओमप्रकाश चौटाला के फैसले का सम्मान करते हैं। 
 

 

एक दिन पहले ओमप्रकाश चौटाला ने इनसो को किया था भंग
पार्टी सुप्रीमो ने इनेलो के स्टूडेंट विंग इंडियन स्टूडेंट आर्गनाइजेशन (इनसो) की राष्ट्रीय और राज्य इकाई को गुरुवार को तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया था। उन्होंने कहा था कि इनेलो की युवा इकाई और इंडियन स्टूडेंट आर्गनाइजेशन (इनसो) को अनुशासनहीनता और पार्टी के आदर्शों के विरुद्ध काम करते हुए पाया गया था। गोहाना में 7 अक्टूबर को हुई जननायक चौधरी देवीलाल के जन्मदिवस सम्मान समारोह रैली में पार्टी की युवा इकाई पूरी तरह अपनी भूमिका निभाने में नाकाम रही।
  
 

COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543