--Advertisement--

फर्जीवाड़ा / पैसे डबल करने का ऑफर देकर 2 हजार लोगों के ~70 करोड़ लेकर फरार



सिरसा| वेल्थ वे कंपनी का बंद पड़ा कार्यालय। सिरसा| वेल्थ वे कंपनी का बंद पड़ा कार्यालय।
X
सिरसा| वेल्थ वे कंपनी का बंद पड़ा कार्यालय।सिरसा| वेल्थ वे कंपनी का बंद पड़ा कार्यालय।
  • फतेहाबाद की एक विधवा ने कंपनी के खिलाफ करवाया ठगी का केस
  • कंपनी सिरसा में अपने कार्यालय पर ताला लगाकर हुई फरार

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2018, 03:58 AM IST

सिरसा. चिटफंड कंपनी वेल्थ वे भी फ्यूचर मेकर की तरह उपभोक्ताओं के साथ कम समय में पैसे डबल करने का झांसा देकर करोड़ों रुपए की ठगी करने के आरोप में फंस गई है। कंपनी के सीएमडी और डायरेक्टर कंपनी के सिरसा स्थित कार्यालय को ताला लगाकर फरार हो गए है। मोबाइल बंद कर लिए हैं। उपभोक्ता कार्यालय के चक्कर काट रहे हैं। हालांकि फतेहाबाद की एक विधवा महिला ने कंपनी के खिलाफ ठगी का केस दर्ज करवा रखा है। उसके बाद अब अन्य उपभोक्ता सामने आने शुरू हो गए है।

 

ठगी का शिकार हुए गांव कैरांवाली के किसान मांगेराम ने बताया कि उसने बिजली निगम के एक विजिलेंस कर्मचारी की मध्यस्था से कंपनी में 52700, 52700 रुपये की अपने नाम से दो आईडी लगाई थी। 11 महीने बाद दोनों आईडी से सात लाख रुपये आने थे।

 

इससे पहले एक निजी पैलेस में कंपनी का कार्यक्रम हुआ। जिसमें कंपनी के अधिकारियों ने कई लोगों को लाखों रुपये के चैक बांटे थे। इसी लालच में आकर उसने विजिलेंस कर्मचारी को बीच में लेते हुए पैसे लगा दिए थे। उसे केवल 4700 रुपये ही वापस मिले। उसके बाद कंपनी फरार है।

 

अब वह विजिलेंस विभाग के उस पुलिस कर्मचारी के यहां चक्कर काट रहा है। वह भी अब बहानेबाजी कर रहा है, जबकि कंपनी का सीएमडी उसके खुद का बेटा है। अब वह पुलिस में शिकायत दर्ज करवाएगा। उसके गांव के अन्य लोगों ने भी पैसे लगा रखे हैं। 

 

वहीं सिरसा के गोशाला रोड पर फर्नीचर शोरूम संचालक सुभाष वर्मा ने बताया कि विजिलेंस कर्मचारी के विश्वास पर उसने कंपनी में 62 हजार रुपये लगाए थे। उसमें से उसके 20 हजार रुपये वापस आए हैं। बाकी नहीं। अब तक पंचायतें चल रही थीं। जब भी पैसे मांगे तो विजिलेंस कर्मचारी अपनी सरकारी नौकरी जाने का हवाला देकर उन्हें कार्रवाई से रोक रहा था।

 

अब वे केस दर्ज करवाएंगे। कंपनी में करीब दो हजार लोगों ने 70 करोड़ रुपये तक जमा करवाए हुए है। विजिलेंस विभाग का कर्मचारी पर्दे के पीछे  रहकर कंपनी का कारोबार संभाल रहा था। इसी के विश्वास पर लोग पैसा लगा रहे थे। कंपनी में महाराष्ट्र के लोगों तक ने निवेश कर रखा है। करोड़ों रुपये निवेशकों के डूब गए हैं। यहां बता दें कि शहर सिरसा पुलिस ने फतेहाबाद निवासी संतरो पत्नी राजेश कुमार की शिकायत पर कंपनी के अधिकारी सुखचैन अरोड़ा व शिवाजीत सिंह के खिलाफ ठगी का केस दर्ज कर रखा है।

Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..