विधानसभा चुनाव / सीएम बोले-तेज बहादुर का काम ही सस्ती लोकप्रियता पाना, पता नहीं और कितनी किरकिरी कराएगा



करनाल में जनसभा को संबोधित करते सीएम मनोहर लाल। करनाल में जनसभा को संबोधित करते सीएम मनोहर लाल।
X
करनाल में जनसभा को संबोधित करते सीएम मनोहर लाल।करनाल में जनसभा को संबोधित करते सीएम मनोहर लाल।

  • करनाल हलके में शहर की कॉलोनियों और आसपास के गांवों में किया मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने जनसंपर्क
  • कांग्रेस और जजपा प्रत्याशियों पर साधा निशाना, कहा-सभी को पता है इनका इतिहास
  • इनेलो के पास कोई टिकट देने के लिए आदमी ही नहीं, लोग कर रहे हैं तरह-तरह की बातें

Dainik Bhaskar

Oct 11, 2019, 05:32 PM IST

करनाल. विधानसभा चुनाव प्रचार पर निकले प्रदेश के सीएम मनोहर लाल खट्‌टर शुक्रवार को अपने विधानसभा क्षेत्र करनाल के विभिन्न गांवों और कॉलोनियों में वोटर्स के बीच पहुंचे। उन्होंने जहां समर्थकों को आश्वस्त किया कि उनका मुकाबला किसी से नहीं है, वहीं सबसे ज्यादा फोकस जजपा से टक्कर में उतरे बीएसएफ के बर्खास्त जवान तेजबहादुर यादव पर रहा। दरअसल इन दिनों मनोहर लाल जहां भी जा रहे हैं, 4 से 5 मिनट ही बोलते हैं। आज सामने आए 2 मिनट 21 सेकंड्स के एक वीडियो में सीएम सवा मिनट तक यादव पर ही बोलते रहे। उन्होंने कहा कि उसका तो काम ही सस्ती लोकप्रियता बटाेरना है। वह कुछ न कुछ करता ही रहता है।

 

शुक्रवार को दोपहर बाद करनाल की दुर्गा कॉलोनी में मतदाताओं और समर्थकों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा, 'यह तो चुनाव आयोग को भी पता है कि अगर सारे के सारे वोट कमल पर पड़ जाएं तो कोई शंका नहीं होगी, क्योंकि सामने मैदान खाली है। कांग्रेस ने कैडिडेट तो खड़ा कर दिया, पर अब खुद कांग्रेस वाले ही कह रहे हैं कि भई ये किसको पकड़ लाए। मैं किसी की बुराई नहीं करना चाहता, लेकिन इतिहास तो हर आदमी का होता है। उनका जो इतिहास है, वह सभी लोगों को पता है।'

 

जन नायक जनता पार्टी के प्रत्याशी तेज बहादुर यादव पर बोलते हुए सीएम ने कटाक्ष किया कि एक पार्टी ने एक फौजी को लाकर खड़ा कर दिया। जा भाई करनाल से चुनाव लड़। उसका तो काम ही सस्ती लोकप्रियता ढूंढना है। प्रसिद्धि पाने के लिए वह कुछ न कुछ करता ही रहता है। पीछे एक केस में फंसा हुआ था। अब यहां चुनाव वगैरह के लिए तो नहीं आया, पर एक जगह धरना देने के लिए चला गया। वहां रोड जाम किया तां पुलिस ने उठाकर हवालात में डाल दिया। अरे पहले तो जमानत करा ले अपनी और फिर जब आएगा टक्कर में फौजी भाई को भी देख लेंगे। लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी के मुकाबले भरा नामांकन भरा था, पर बेचारे के कागज ही खराब थे। यहां आया तो यहां आकर दूसरा फितूर मिल गया। समझ में नहीं आता कि सस्ती लोकप्रियता के चक्कर में और कितनी किरकिरी कराएगा।

 

इसके अलावा इनेलो ने कैंडिडेट ही खड़ा नहीं किया। लोग तो ये भी कह रहे हैं कि मनोहर लाल के साथ कहीं कोई सांठगांठ तो नहीं, इसलिए इनेलो ने किसी को टिकट ही नहीं दिया। अरे भाई कोई हो तुम्हारी टिकट लेने के लिए तब ना...। कुल मिलाकर सामने मैदान खाली है।

 

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना