--Advertisement--

राजनीति / कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष तंवर ने बीजेपी पर साधा निशाना, बोले- हार के डर से टाला जींद विधानसभा उपचुनाव



कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर। (फाइल) कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर। (फाइल)
X
कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर। (फाइल)कांग्रेस अध्यक्ष अशोक तंवर। (फाइल)
  • खट्टर सरकार द्वारा छात्र-संघ का अप्रत्यक्ष चुनाव कराना, छात्र संगठनों पर कुठाराघात के समान

Dainik Bhaskar

Oct 13, 2018, 07:30 PM IST

चंडीगढ़। हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष डॉ. अशोक तंवर ने कहा है कि भाजपा सरकार जींद विधान सभा के उपचुनाव को टालने की हरसंभव कोशिश कर रही है। नियमों के अनुसार विधान सभा या लोक सभा के किसी भी रिक्त स्थान को भरने के लिए उपचुनाव को 6 महीने से ज्यादा टाला नहीं जा सकता। 

 

 

शनिवार को चंडीगढ़ में पत्रकारों से बातचीत के दौरान डॉ. तंवर ने कहा कि भाजपा सरकार ने यह उपचुनाव टालने के लिए मुख्य चुनाव आयुक्त को पत्र लिखा है और हैरानी इस बात की है कि चुनाव आयोग ने जींद उपचुनाव टालने की मंजूरी दे दी है।

 

 

हरियाणा विधान सभा का कार्यकाल एक साल का बचा है इसलिए अगर भाजपा यह उपचुनाव टालती है तो ये संविधान द्वारा दिए गए मताधिकार का हनन करना होगा। डॉ. तंवर ने कहा कि हरियाणा प्रदेश कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल शीघ्र ही मुख्य चुनाव आयोग से मिल कर अपना रोष दर्ज कराएगा और जींद उपचुनाव 6 माह के अंदर कराए जाने की मांग करेगा। 

 

 

प्रत्यक्ष प्रणाली से कराएं चुनाव 

डॉ. तंवर ने कहा कि हरियाणा की भाजपा सरकार छात्र संघ चुनाव अप्रत्यक्ष ढंग से करवाने की साजिश कर रही है, जबकि कांग्रेस पार्टी और हरियाणा के अन्य राजनीतिक दल प्रत्यक्ष चुनाव करवाए जाने के पक्ष में हैं। एनएसयूआई ने इन अप्रत्यक्ष चुनावों का बहिष्कार करने का निर्णय किया है। अन्य छात्र संगठन जैसे इनसो, एसएफओ आदि भी अप्रत्यक्ष चुनावों को छात्र के अधिकारों पर कुठाराघात बता रहे हैं। 

 

 

विशेष गिरदावरी कराई जाए

डॉ. तंवर ने कहा कि हरियाणा में बेमौसम की ओलावृष्टि और वर्षा के कारण फसलों को काफी हानि हुई है। किसानों की स्थिति तो पहले ही दयनीय थी, अब ओलावृष्टि और वर्षा से हुए नुकसान के कारण किसानों के लिए कठिनाईयां और बढ़ गई हैं। उन्होंने भाजपा सरकार से मांग की कि फसल के नुकसान का जायजा लेने के लिए तुरंत विशेष गिरदावरी करवाई जाए और किसानों को उचित मुआवजा दिया जाए।  

 

 

श्वेत पत्र जारी करे
डॉ. तंवर ने कहा कि हरियाणा सरकार का खजाना बिल्कुल खाली हो चुका है और इसका बैलेंस शून्य है। उन्होंने कहा कि 2013-14 में हरियाणा की देनदारी 79600 करोड़ रूपए थी जोकि 2016-17 तक बढ़कर 144100 करोड़ रुपए हो गई है। मुख्य मंत्री व राज्य के वित्त मंत्री को सही स्थिति लोगों के सामने रखने के लिए श्वेत-पत्र जारी करना चाहिए ताकि पता लग सके कि सरकारी खजाने का सारा पैसा कहां गया।

 

 

गुरुग्राम नगर निगम वार्डबंदी में धांधली के आरोप 
अशोक तंवर ने गुरूग्राम नगर निगम की अगस्त 2017 में की गई वार्डबंदी को गलत बताते हुए कहा कि वार्डबंदी में फर्जी और गलत तरीके से एससी सीटों के लिए आरक्षण किया गया। इससे चुनाव में धंाधली हुई। सीटों के आरक्षण में हेरा-फेरी दबाव में आकर की गई है। उन्होंने इन चुनावों को रद्द करके नई वार्डबंदी करने की मांग की ताकि वार्डबंदी ठीक हो सके और चुनाव न्यायपूर्ण तरीके से हो सकें।

--Advertisement--
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..