कार्रवाई / ग्रुप-डी की नौकरी के नाम पर ठगी करने वाला कांस्टेबल अरेस्ट



कांस्टेबल सतीश कांस्टेबल सतीश
X
कांस्टेबल सतीशकांस्टेबल सतीश

  • लग्जरी गाड़ियों का शौकीन है आरोपी, बार- बार बदलता था गाड़ियां, अफसरों काे भी था शक, दाे दिन के रिमांड पर

Dainik Bhaskar

Jun 10, 2019, 06:55 AM IST

करनाल. ग्रुप-डी की नौकरी दिलाने का झांसा देकर ठगी करने वाले एक कांस्टेबल को गिरफ्तार किया गया है। करनाल पुलिस लाइन में तैनात आरोपी कांस्टेबल सतीश कुमार लग्जरी गाड़ियों का शौकीन है और बार-बार गाड़ी बदलता रहता था। इसलिए पुलिस अधिकारियों को भी उस पर शक था।

 

सिविल लाइन थाना पुलिस ने उसके खिलाफ धोखाधड़ी सहित विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया है। पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश कर 2 दिन के रिमांड पर लिया है। दरअसल, करनाल के गांव फुरलक निवासी धर्मपाल ने शिकायत दी थी कि कैथल के गांव आंहू निवासी कांस्टेबल सतीश कुमार ने एक लाख रुपए प्रति उम्मीदवार के हिसाब से ग्रुप-डी में नौकरी लगवाने का झांसा दिया था।

 

इस पर धर्मपाल ने अपने दामाद कुलदीप अाैर अपने लड़के के साले ऊझा निवासी सुमित काे नाैकरी दिलाने के लिए 13 नवंबर 2018 को एक लाख और 15 नवंबर 2018 को फिर बैंक अकाउंट्स में एक लाख रुपए दिए। लेकिन अाराेपी ने किसी की भी नाैकरी नहीं लगवाई।

 

पैसे मांगने पर धमकी दी गई कि किसी भी केस में अंदर करा दूंगा। इस पर पुलिस में शिकायत दी गई, लेकिन पुलिस ने शिकायत दर्ज नहीं की। पीड़ित अप्रैल से थाने के चक्कर लगा रहे थे। अब डीएसपी वीरेंद्र सैनी की जांच रिपोर्ट के आधार पर आरोपी कांस्टेबल को गिरफ्तार किया गया है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना