राजनीति / गोहाना रैली में हुटिंग पर कार्रवाई, ओमप्रकाश चौटाला ने भंग की इनसो

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2018, 10:55 AM IST



Controversy in Chautala family Ajay Chautala Removed from General Secretary
X
Controversy in Chautala family Ajay Chautala Removed from General Secretary

  • छात्र इकाई के पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने का दोषी बताकर की कार्रवाई
  • 7 अक्टूबर को देवीलाल के जन्मदिन सम्मान समारोह में हुई थी रैली, अजय चौटाला के समर्थकों ने की थी हूटिंग

चंडीगढ़। चौटाला परिवार में सियासी वर्चस्व की जंग खुलकर बाहर आ गई है। गोहाना रैली के 4 दिन बाद गुरुवार को इनेलो सुप्रीमो ओमप्रकाश चौटाला ने पार्टी की यूथ विंग के साथ छात्र विंग इनसो (इंडियन नेशनल स्टूडेंट ऑर्गेनाइजेशन) को भी भंग कर दिया। घोषणा के तुरंत बाद ही चौटाला के पोते व इनसो के राष्ट्रीय अध्यक्ष दिग्विजय चौटाला ने दादा के फैसले को मानने से इनकार कर दिया। 

 

 

उन्होंने कहा कि इनसो भंग नहीं हुआ है। यह इनेलो से सिर्फ वैचारिक तौर पर जुड़ा है। इनसो को भंग करने का हक सिर्फ अजय चौटाला को है। इनसो की राष्ट्रीय बॉडी फैसला ले तो ही यह भंग हो सकता है। उधर, हिसार से सांसद दुष्यंत चौटाला ने कहा कि ओपी चौटाला ने जो निर्णय लिया है, हम उसका सम्मान करते हैं। दुष्यंत के प्रभाव में ही यूथ विंग का संचालन हो रहा था। 

 

 

वहीं इनेलो ने रिटायर्ड आईएएस अधिकारी आरएस चौधरी को पार्टी का राष्ट्रीय महासचिव बनाया है। पार्टी प्रवक्ता के मुताबिक अजय चौटाला प्रदेश महासचिव बने रहेंगे। इससे पूर्व पार्टी की ओर से बयान जारी कर कहा गया कि इनेलो सुप्रीमो ने दोनों युवा इकाइयों को अनुशासनहीनता और पार्टी के विरुद्ध काम करते हुए पाया है। गोहाना रैली में ये भूमिका निभाने में असफल रहीं। इनसो पार्टी विरोधी गतिविधियों में संलिप्त है। ज्ञात हो कि चौधरी देवी लाल की राजनीतिक विरासत के लिए भी ओपी चौटाला और उनके भाई रणजीत चौटाला में टकराव की स्थिति बनी थी। तभी रणजीत कांग्रेस में चले गए थे।

 

 

दो सेल के प्रधान भी बदले
किसान सैल की जिम्मेदारी पूर्व विधायक निशान सिंह की जगह पूर्व विधायक कली राम को दी है। कर्मचारी सेल के संयोजक धारा सिंह को प्रभारी बना दिया है। उनके स्थान पर बलवीर सिंह को संयोजक बनाया है। मेडिकल सैल नई बनाई गई है। इसका संयोजक डाॅ. केसी काजल को बनाया है। हिसार में राजेंद्र लितानी की जगह सतवीर सिसाय को जिला प्रधान बनाया है। चरखी दादरी में नरेश द्वारका के स्थान पर अब विजय पंचगांवा को जिला प्रधान बनाया है।

 

 

ये हैं विवाद की तीन तारीखें...
3 अक्टूबर, गुड़गांव: ओपी चौटाला गुड़गांव में कार्यकर्ताओं की बैठक में अभय की तारीफ की। दुष्यंत का नाम नहीं लिया। यहीं से नाराजगी शुरू।
6 अक्टूबर, गोहाना: शनिवार रात अभय रैली की तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे। तब मंच पर दुष्यंत का फोटो न देख उनके समर्थक उत्तेजित हो गए।
7 अक्टूबर, गोहाना: रैली में

 

 

अजय पर कार्रवाई की चर्चा 
11:59 बजे पहली मेल में बताया गया कि रिटायर्ड आईएएस अफसर आरएस चौधरी को इनेलो का नया राष्ट्रीय महासचिव बनाया गया है। मेल जारी होते ही चर्चा चल पड़ी कि अजय सिंह चौटाला को राष्ट्रीय महासचिव के पद से हटा दिया है। 12:41 बजे फिर मेल कर बताया गया कि आरएस चौधरी राष्ट्रीय महासचिव बने रहेंगे। अजय सिंह चौटाला प्रदेश प्रधान महासचिव हैं और बने रहेंगे।

 

 

जबकि अजय खुद को राष्ट्रीय प्रधान सचिव लिखते रहे हैं। उनकी आेर से फेसबुक पर नवरात्रि की बधाई दी गई है। उसमें भी उनका पद राष्ट्रीय प्रधान महासचिव ही लिखा है। 1:42 बजे मेल जारी की गई कि इनेलो की युवा विंग के साथ छात्र विंग इनसो को भी भंग कर दिया गया है।

COMMENT