करनाल / करनाल में गेट पास मांगने पर मार्केट कमेटी के सेक्रेटरी और कर्मचारी ने मुनीम को पीटा



करनाल : घटना के बाद धर्मकांटे पर जाम लगाते किसान। करनाल : घटना के बाद धर्मकांटे पर जाम लगाते किसान।
X
करनाल : घटना के बाद धर्मकांटे पर जाम लगाते किसान।करनाल : घटना के बाद धर्मकांटे पर जाम लगाते किसान।

  • चार घंटे बाद कर्मी को हटाया, सेक्रेटरी ने माफी मांगी

Dainik Bhaskar

Oct 04, 2019, 07:09 AM IST

करनाल.  अनाजमंडी में मार्केट कमेटी के कार्यालय में गुरुवार को एक मुनीम को डीसी रेट पर लगे कर्मचारी से गेट पास मांगना महंगा पड़ गया। सेक्रेटरी हकीकत कादयान और कर्मचारी रजत काजल ने मुनीम धीरज का मोबाइल छीनकर उसके साथ मारपीट कर दी। इस हंगामे के बाद मुनीमों ने हड़ताल कर दी। इनके समर्थन मंे आढ़ती भी आ गए। दाेपहर 11 बजे से तीन बजे तक चार घंटे के बाद मुनीमों ने बताया कि सेक्रेटरी ने सभी के बीच में जाकर माफी मांगी और डीसी रेट पर लगे कर्मचारी को मार्केट कमेटी से हटा दिया गया है। इसके बाद मंडी में खरीद प्रक्रिया शुरू हुई। मुनीम धीरज ने बताया कि वह आई-फार्म लेकर मार्केट कमेटी के कार्यालय में पहुंचा और गेट पास मांगे। इस दौरान इसके मोबाइल पर वीडियो कॉल आ गई। कर्मचारी ने समझा कि वह उनकी वीडियो रिकॉर्डिंग कर रहा है। कर्मचारी ने तुरंत सेक्रेटरी हकीकत कादयान को मौके पर बुलाया। 

 

आरोप लगाया कि इसका मोबाइल छीनकर उसके साथ मारपीट करने लगे। पीड़ित का कहना है कि उसने कोई रिकॉर्डिंग नहीं की थी। उसकी जेब में 10 हजार रुपए थे, वाे भी छीन लिए गए। इसकी सूचना मंडी में लग गई और मार्केट कमेटी के कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गए। दूसरी तरफ, मार्केट कमेटी के सेक्रेटरी हकीकत कादयान ने इस मामले में चुप्पी साध गए और उन्होंने मीडिया से बातचीत नहीं की। अनाजमंडी के गेट पर ही किसानों को गेट पास मिलने चाहिए, लेकिन उन्हें दस्ती पर्ची देकर टरका देते हैं। रजिस्टर्ड किसानों को भी गेट पास नहीं देते। मंडी के प्रधान रजनीश चौधरी ने कहा कि गेट पास नहीं देने से परेशानी बढ़ रही है। कच्ची पर्ची सभी को थमाई हुई है। इसका कोई रिकॉर्ड नहीं होता। मुनीम के साथ की गई मारपीट करना सरासर गुंडागर्दी है। ऐसे में कार्रवाई होनी चाहिए। 

 

हड़ताल पर बैठे मुनीम सुनील, जितेंद्र, अनिल, धीरज, विकास, संदीप, राजेश ने कहा कि मंडी में क्या गड़बड़ी हो रही है, हम कुछ नहीं जानते। गेट पास मांगने पर ही मुनीम के साथ मारपीट करने के मामले में सेक्रेटरी व कर्मचारी को तुरंत प्रभाव से सस्पेंड किया जाए। इस पर कानूनी कार्रवाई की जाए। विरोध बढ़ने पर आढ़ती, मुनीम, डीआरओ, सेक्रेटरी सहित अन्य अधिकारियों की मीटिंग हुई। इसके बाद सेक्रेटरी ने माफी मांगी और कर्मचारी को हटा देने की बात कही। इस पर मुनीमों ने हड़ताल समाप्त कर दी गई।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना