• Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • DEO and BEO will taste the mid day meal being received in schools, will take feedback from the students send the report to the headquarters

सख्ती / स्कूलों में मिड्डे मील को चखेंगे डीईईओ और बीईओ, छात्रों से फीडबैक लेंगे, पूछेंगे खाना कैसा लगा, रिपोर्ट मुुख्यालय को भेजेंगे

शिक्षा अधिकारी हर माह कम से 25 से 30 स्कूलों का भोजन जरूर चखेंगे। शिक्षा अधिकारी हर माह कम से 25 से 30 स्कूलों का भोजन जरूर चखेंगे।
X
शिक्षा अधिकारी हर माह कम से 25 से 30 स्कूलों का भोजन जरूर चखेंगे।शिक्षा अधिकारी हर माह कम से 25 से 30 स्कूलों का भोजन जरूर चखेंगे।

  • शिक्षा निदेशालय ने दिया निर्देश, कहा -खाना चखकर शुद्धता की जानकारी मुख्यालय को दें, छात्रों को न परोसें खराब खाना
  • हर माह 30 स्कूलों में भोजन चखना अनिवार्य, मिड डे मील परोसे जाने के समय पर अपने संबंधित स्कूलों का दौरा जरूर करें

दैनिक भास्कर

Feb 17, 2020, 08:46 AM IST

फरीदाबाद. स्कूलों में मिल रहे मिड डे मील को अब शिक्षा विभाग के अधिकारी चखेंगे। इसके बाद छात्रों के बीच इसे परोसा जाएगा। मिड डे मील की गुणवत्ता में सुधार लाने के लिए शिक्षा निदेशालय ने यह निर्देश जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी (डीईईओ) व ब्लॉक शिक्षा अधिकारी (बीईओ) को दिया है। साथ ही यह भी कहा है कि वह भोजन चखने के साथ सभी छात्रों से इसके बारे में जानकारी लें।

उनसे पूछें कि खाना कैसा लगा। अच्छा लगा कि नहीं। खाना खाकर संतुष्ट हैं कि नहीं। अगर कोई छात्र खाना खाकर असंतुष्टि जताता है तो स्कूल मुखिया या मिड डे मील को तैयार करने वाली एजेंसी के खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है। शिक्षा निदेशालय ने निर्देश में यह भी कहा है कि डीईईओ और बीईओ छात्रों को मिल रहे खाने की रिपोर्ट तैयार कर हर महीने निदेशालय को भेजें। 
 

निर्देश में कहा कि जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी व ब्लॉक शिक्षा अधिकारी हर माह कम से 25 से 30 स्कूलों का भोजन जरूर चखें। खासकर ब्लॉक शिक्षा अधिकारियों से कहा गया है कि वह मिड डे मील परोसे जाने के समय पर अपने संबंधित स्कूलों का दौरा जरूर करें। वहां भाेजन परोसे जाने से पहले चखें। इसमें लापरवाही न बरतें।
 

अधिकारियों को प्रोफॉर्मा भरकर देनी होगी रिपोर्ट 

अधिकारियों के अनुसार मिड डे मील की शुद्धता की रिपोर्ट समय-समय पर अब निदेशालय को भेजनी होगी। अधिकारी जिन स्कूलों का दौरा करेंगे और वहां भोजन करेंगे। इसके बाद सारी रिपोर्ट मुख्यालय को भेजेंगे। इसके लिए निदेशालय की ओर से एक प्रोफार्मा दिया गया है। उसमें खाने की शुद्धता, छात्रों से पूछे गए सवाल, छात्रों की संतुष्टि, छात्रों को क्या-क्या परोसा जा रहा है। ये सभी जानकारी भरकर निदेशालय को भेजने होंगी। 

छुट्टी पर गए तो स्वत: हस्तांतरित होगी शक्तियां
जिले में शिक्षा विभाग में तैनात उच्चाधिकारियों को अब उनके समकक्ष बैठे, उन अधिकारियों का काम भी देखना होगा जो एक सप्ताह या उससे अधिक समय के लिए छुट्टी पर गए हैं। अधिकारियों के अनुसार छुट्टी पर जाने वाले अधिकारियों की आहरण एवं शक्तियां उनके समकक्ष अधिकारी के पास स्वत: हस्तांतरित हो जाएंगी।
 

जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी शशि अहलावत- हम मिड डे मील की शुद्धता पर कड़ी निगरानी रखते हैं। साथ ही कोशिश रहती है कि रोज मिड मील को चखें। जिससे छात्रों को शुद्ध भोजन मिल सके। निदेशालय के निर्देश के बाद अब छात्रों से फीड बैक भी लिया जाएगा और रिपोर्ट तैयार कर मुख्यालय को भेजी जाएगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना