बिजली चोरी / प्रदेश में 9 माह में 18 हजार जगह बिजली चोरी पकड़ी, हर माह 10 करोड़ जुर्माना, पानी चोरी के भी 585 केस



पंचकूला में पीआर देव ने विजिलेंस के अधिकारियों के साथ बैठक की। पंचकूला में पीआर देव ने विजिलेंस के अधिकारियों के साथ बैठक की।
X
पंचकूला में पीआर देव ने विजिलेंस के अधिकारियों के साथ बैठक की।पंचकूला में पीआर देव ने विजिलेंस के अधिकारियों के साथ बैठक की।

  • लाइन लॉस कम करने की योजना को सिरे लगाने में आ रही दिक्कतें
  • प्रदेश में पेंडिंग केसों का आंकड़ा 31 हजार पर आया
  • बिजली ने पेंडिंग केसों को निपटाने के जारी किए आदेश

Dainik Bhaskar

Sep 13, 2019, 06:45 AM IST

पानीपत. हरियाणा में बिजली व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए बिजली निगम छापेमारी कर बिजली चोरों काे पकड़ रहा है। मोटा जुर्माना भी लगा रहा है, लेकिन इसके बावजूद बिजली चोर बाज नहीं आ रहे। अब बिजली निगम बिजली चोरों पर और कड़ी कार्रवाई करेगा। इस संबंध में शुक्रवार को पंचकूला में आला अधिकारियों की बैठक हुई। पुलिस अधिकारियों को सख्त आदेश दिए गए कि किसी भी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं होगी। 

 

एक जनवरी से 11 सितंबर 2019 तक हरियाणा में बिजली चोरी के 18255 केस दर्ज किए गए हैं। इसी अवधि में पानी चोरी के 585 केस भी दर्ज हुए हैं। पिछले केसों को मिलाकर कुल आंकड़ा 70255 तक पहुंचा है। विभाग ने तेजी से कार्रवाई करते हुए 36715 केसों का निपटारा किया है और 97 केस कोर्ट में भेजे गए हैं। जबकि पानी चोरी के 13 केस भी कोर्ट में गए हैं। छापेमारी कर 89.10 करोड़ रुपए जुर्माना वसूला गया है।

 

महानिदेशक विजिलेंस ब्यूरो हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम पीआर देव ने इस संदर्भ में गुरुवार को विभाग के विजिलेंस अधिकारियों की बैठक ली और जितने भी पेंडिंग केस हैं, उनको तेजी से निपटाने के आदेश दिए हैं। अतिरिक्त निदेशक एसके छिल्लर ने कहा कि ब्यूरो के पुलिस अधिकारियों के निर्देशन में रिकॉर्ड राजस्व की वसूली की गई वहीं दूसरी तरफ पुलिस थानों के आधारभूत संरचना को सुदृढ़ और बेहतर बनाया गया है। पुलिस अधीक्षक बलवान सिंह ने कहा कि जन जागरण का अभियान चलाकर चोरी के अपराधों में कमी ला रहे हैं। 

 

ऊर्जा संरक्षण का चलाना होगा अभियान
महानिदेशक विजिलेंस ब्यूरो हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम पीआर देव ने बैठक में सभी पुलिस अधिकारियों से अनुसंधान कार्यों को अतिशीघ्र निष्पादन का आदेश दिया। उन्होंने कहा कि ब्यूरो के जो रूटीन कार्य हैं उसमें किसी भी तरह की ढिलाई या अनुशासनहीनता बर्दाश्त नहीं की जाएगी। कुल 533 पद ब्यूरो में हैं, भविष्य में और पद बढ़ाए जाएंगे। ऊर्जा संरक्षण समय की मांग है, जलवायु परिवर्तन के दौर में तेजी से बदलती दुनिया साइबर युग की नई पीढ़ी लगातार कार्बन फुटप्रिंट छोड़ रही है, ऐसे में ब्यूरो के पुलिस कर्मचारियों एवं अधिकारियों को जन सामान्य से संवाद कायम कर ऊर्जा संरक्षण का अभियान चलाना होगा। प्रकृति मनुष्य जीवन का आधार है,  ऊर्जा संरक्षण प्रकृति संरक्षण का अभियान है। 16 सितंबर को ओजोन दिवस है और एक से सात अक्टूबर तक वन्य प्राणी सप्ताह है, ऐसे में हमें विद्यार्थियों व समाज के दूसरे हिस्सों से जुड़कर ऊर्जा संरक्षण के महत्व को बताना होगा। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना