हरियाणा / दूध उत्पादन में वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने वाली भैंस सरस्वती 51 लाख में बेची, मालिक को चोरी होने का डर था

भैंस के विदाई समारोह में 700 किसान हुए शामिल। भैंस के विदाई समारोह में 700 किसान हुए शामिल।
X
भैंस के विदाई समारोह में 700 किसान हुए शामिल।भैंस के विदाई समारोह में 700 किसान हुए शामिल।

  • मुर्राह नस्ल की भैंस सरस्वती ने 33.131 किग्रा. दूध देकर पाकिस्तान की भैंस का रिकॉर्ड तोड़ा था
  • सरस्वती पहले हिसार जिले के लितानी के सुखबीर सिंह के पास थी, इसे लुधियाना के पवित्र सिंह ने खरीदा है

दैनिक भास्कर

Feb 27, 2020, 12:59 PM IST

हिसार(महबूब अली).  हरियाणा की मुर्राह नस्ल की विश्व रिकॉर्ड बनाने वाली सरस्वती भैंस 51 लाख रुपए में सोमवार को बिक गई। यह हिसार जिले के लितानी के किसान सुखबीर सिंह ढांडा के पास थी। भैंस सरस्वती ने 33.131 किलोग्राम दूध देकर पाकिस्तान की भैंस का रिकॉर्ड तोड़ा था। सरस्वती को लुधियाना के पवित्र सिंह ने खरीदा है। सुखबीर को सरस्वती के चोरी होने का डर था। वह उसे एक करोड़ रुपए में भी बेचने को तैयार नहीं थे। 

दरअसल, सुखबीर कुछ दिन पहले सरस्वती को लेकर लुधियाना के जगरांव में डेयरी एंड एग्री एक्सपो में भाग लेने गए थे। वहां सरस्वती ने 33.131 किलो दूध देकर विश्व रिकॉर्ड अपने नाम किया था, जिस पर उन्हें दो लाख रुपए का इनाम देकर सम्मानित किया गया। इससे पहले सबसे अधिक दूध देने का रिकॉर्ड पाकिस्तान की भैंस के नाम था, जिसने 32.050 किलो ग्राम दूध दिया था। 

एक लाख 30 हजार रुपए में खरीदा था
भैंस बेचने से पहले किसान ने समारोह का आयोजन किया, जिसमें हिसार के अलावा राजस्थान, यूपी, पंजाब के करीब 700 किसान शामिल हुए। सुखबीर सिंह ने बताया कि उन्होंने सरस्वती को एक लाख 30 हजार रुपए में करीब चार साल पहले बरवाला के खोखा गांव के किसान गोपीराम से खरीदा था। इसके बाद सरस्वती ने कई बच्चों को जन्म दिया। फिलहाल दूध और सीमेन बेचकर एक लाख रुपए से अधिक की कमाई कर रहे हैं।

सुखबीर सिंह ने सरस्वती को करीब चार साल पहले एक लाख 30 हजार रुपए में खरीदा था।

सरस्वती ने वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने से पहले भी रचे कई कीर्तिमान
सुखबीर सिंह ढांडा को सरस्वती ने पहले भी गर्व का कई मौका दिया है। वह बताते हैं, ‘सरस्वती ने पिछले साल 29.31 किलो दूध देकर हिसार में फर्स्ट प्राइज जीता था। हिसार के ही सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ बफलो रिसर्च के कार्यक्रम में 28.7 किलो दूध देकर वह अव्वल रही थी। हरियाणा पशुधन विकास बोर्ड के आयोजन में भी 28.8 किलो मिल्क प्रॉडक्शन के साथ उसने प्रतियोगिता जीती थी।’

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना