जींद / जींद में क्लोरीन युक्त टनर से गैस हुई लीक, 19 घंटे बाद किया डिस्पोज आॅफ, टनर मालिक पर केस दर्ज



जींद | सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट में टनर की गैस को खत्म करने के लिए पानी में चूना मिलाते कर्मचारी। जींद | सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट में टनर की गैस को खत्म करने के लिए पानी में चूना मिलाते कर्मचारी।
जींद | टनर को चूना युक्त पानी में डालते अधिकारी। जींद | टनर को चूना युक्त पानी में डालते अधिकारी।
X
जींद | सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट में टनर की गैस को खत्म करने के लिए पानी में चूना मिलाते कर्मचारी।जींद | सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट में टनर की गैस को खत्म करने के लिए पानी में चूना मिलाते कर्मचारी।
जींद | टनर को चूना युक्त पानी में डालते अधिकारी।जींद | टनर को चूना युक्त पानी में डालते अधिकारी।

  • टनर को बेचने के लिए बुलाया गया था कबाड़ी को, खुलने के बजाय टनर में हो गई थी लीकेज
  • गैस लीकेज से लोगों को आंखों में जलन तथा गले में खराश होने की शिकायत होने लगी

Dainik Bhaskar

Aug 19, 2019, 06:19 AM IST

जींद. संत नगर में एपेक्स स्थित के पास गली में पड़े क्लोरीन युक्त टनर से शनिवार दोपहर को हुई गैस लीक पर 19 घंटे बाद काबू पाया जा सका। रविवार सुबह साढ़े 9 बजे जाकर गैस लीकेज पर काबू पाया जा सका। उसके बाद टनर को क्रेन की सहायता से उठाकर ट्रैक्टर पर लादकर बीड़ बड़ा वन ले जाया गया ताकि टनर को डिस्पोज आॅफ किया जा सके, लेकिन यहां वन विभाग ने टनर को डिस्पोज आॅफ कराने से इनकार कर दिया। इसके बाद प्रशासनिक अधिकारी टनर को लेकर नरवाना रोड स्थित सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट पहुंचे और ढाई घंटे की मशक्कत के बाद दोपहर डेढ़ बजे डिस्पोज आॅफ किया जा सका। 

 

पुलिस ने एएसआई बलवान सिंह की शिकायत पर मालिक ओमप्रकाश के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। शनिवार दोपहर एपेक्स स्कूल के पास गली में पड़े टनर को बेचने के लिए कबाड़ी को बुलाया गया था, लेकिन कबाड़ी से टनर खुलने की बजाय लीकेज हो गया। एक नोजल टूट गई, जबकि एक टूट गई। इससे गैस लीकेज हो गई। इससे आसपास अफरा-तफरी मच गई। लोगों को आंखों में जलन तथा गले में खराश होने की शिकायत होने लगी। आसपास के एरिया को खाली करवा दिया गया। इसकी सूचना पुलिस को दी गई।

 

सूचना मिलने पर पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंच गए और लीकेज बंद करने का प्रयास किया, लेकिन लीकेज बंद नहीं हो सकी। रात लगभग 2 बजे जाकर लीकेज को किसी तरह कम किया जा सका। उसके बाद पानीपत रिफाइनरी से टीम बुलाकर डिस्पोज आॅफ करने का फैसला किया गया। सुबह साढ़े 6 बजे पानीपत रिफाइनरी से टीम पहुंची और ढाई घंटे की मशक्कत के बाद टनर से लीकेज पूरी तरह से बंद की जा सकी। उसके बाद टनर को क्रेन की सहायता से ट्रैक्टर में लादकर बीड़ बड़ा वन ले जाया गया ताकि डिस्पोजल आॅफ किया जा सके, लेकिन वन विभाग की टीम ने डिस्पोज आॅफ करने से इंकार कर दिया। उसके बाद टनर को सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट लाया गया और वहां गड्ढा खोदकर डिस्पोज आॅफ किया गया। पटियाला चौक पुलिस चौकी के इंचार्ज यशबीर ने बताया कि टनर मालिक ओमप्रकाश के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना