विधानसभा सत्र का बजट सत्र / बाढ़सा या मनेठी, पहला एम्स कहां, डेढ़ घंटे तक हुआ हंगामा, कांग्रेस-भाजपा विधायकों में तकरार



विधानसभा में बजट सत्र के दूसरे दिन सीएम मनोहर लाल विपक्षी विधायकों के सवालों का जवाब देते हुए। विधानसभा में बजट सत्र के दूसरे दिन सीएम मनोहर लाल विपक्षी विधायकों के सवालों का जवाब देते हुए।
X
विधानसभा में बजट सत्र के दूसरे दिन सीएम मनोहर लाल विपक्षी विधायकों के सवालों का जवाब देते हुए।विधानसभा में बजट सत्र के दूसरे दिन सीएम मनोहर लाल विपक्षी विधायकों के सवालों का जवाब देते हुए।

  • भुक्कल ने कहा- बाढ़सा का एम्स मनेठी में शिफ्ट किया तो धरना देंगे
  • धनखड़ बोले- मेरा दिमाग खराब मत करो, झज्जर में हमने कराया विकास

Dainik Bhaskar

Feb 22, 2019, 07:19 AM IST

पानीपत (मनोज कुमार). हरियाणा बजट सत्र के दूसरे सदन में शुरू हुई राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा में खूब हंगामा हुआ। कांग्रेस और सरकार के बीच एम्स और नौकरियों को लेकर तकरार हुई। मामला इतना गरमाया कि वहां एक बार फिर जाट आरक्षण आंदोलन का जिन्न बाहर निकल आया। एक-दूसरे पर प्रदेश को जलवाने के अारोप लगे। झज्जर जिले से आने वाले विधायक एवं कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ और कांग्रेसी विधायक गीता भुक्कल में तीखी बहस हुई।

 

करीब डेढ़ घंटे से ज्यादा समय हंगामे में गुजर गया। भाजपा के विधायक पवन सैनी अभिभाषण पर बोल रहे थे। जब उन्होंने रेवाड़ी के मनेठी में पहले एम्स का जिक्र किया तो कांग्रेसी विधायकों ने कहा कि राज्यपाल से झूठ बुलवाया गया है। पहला एम्स बाढ़सा में बन रहा है।

 

इस पर स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज और कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ के साथ दूसरे विधायकों ने मोर्चा संभालते हुए कहा कि बाढ़सा में दिल्ली एम्स पर लोड  बढ़ने की वजह से बाढ़सा में एम्स का 710 बिस्तर का कैंसर इंस्टीट्यूट बनाया जा रहा है।

 

इस बीच कांग्रेसी विधायक गीता भुक्कल ने बादली विधायक एवं कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ को कमजोर बताते हुए कहा कि झज्जर में विकास नहीं हो रहा। उन्होंने कहा बाढ़सा एम्स मनेठी में शिफ्ट किया तो वे धरना देंगी। उनकी इस बात पर धनखड़ ने कहा कि वहां खूब विकास हुआ है। आप लोगों ने तो झज्जर, रोहतक में आग लगवाई है। ये लोग आग लगवाने वाले लोग हैं। आप दिमाग खराब कर रही हैं। इस पर दोनों पक्षों में जमकर हंगामा हुआ। रघुबीर कादियान ने कहा कि बिना सबूत कैसे आरोप लगा रहे हैं।

 

पूर्व सीएम हुड्डा ने कहा कि मनेठी में एम्स बन रहा है, अच्छा है, लेकिन पहला एम्स बाढ़सा में स्वीकृत है। मेरे पास इसका रिकॉर्ड है। सरकार यह बताएं कि झज्जर में जो बन रहा है, वह मनेठी शिफ्ट किया जा रहा है या वहां नया खुल रहा है। बाढ़सा में कैंसर इंस्टीट्यूट की घोषणा भी कांग्रेस राज में हो चुकी है। इसके लिए 2 हजार करोड़ रुपए का बजट है। इस इंस्टीट्यूट और एम्स की जमीन तक अलग-अलग है। जब कादयान ने बोलना शुरू किया तो स्वास्थ्य मंत्री विज ने कहा कि आप डंगरों के मंत्री रहे हैं, कुछ समझ नहीं आएगा। 

 

सदन में मुद्दे भर्तियों काे लेकर हंगामा हुआ। भाजपा विधायक महिपाल ढांडा ने कहा कि पहले नौकरियों में दलाली होती थी। मंडी लगती थी। मैं सबूत में आदमी खड़े कर सकता हूं। पवन सैनी ने कहा कि पहले पर्ची चलती थी। अब 56 हजार भर्तियां योग्यता के आधार पर मिली, जबकि कांग्रेसी विधायक आनंद सिंह दांगी ने कहा कि ये झूठ बोल रहे हैं। कुछ दिन पहले ग्रुप डी भर्ती में 8-8 लाख रुपए लिए हैं। 

 

किसानों के लिए पेंशन और केंद्र की 6 हजार की स्कीम में सरकार बढ़ा सकती है राशि :
प्रदेश सरकार बजट सत्र में किसानों के लिए पेंशन या प्रधानमंत्री किसान निधि योजना में दिए जाने वाले सालाना छह हजार रुपए की राशि बढ़ा सकती है। जब इनेलो विधायक परमिंद्र सिंह ढुल ने किसानों काे मासिक पेंशन देने का सवाल पूछा तो कृषि मंत्री ने इशारा किया कि क्या बजट से पहले ही कुछ बुलवाना चाहते हैं। अभय चौटाला ने भी इससे संबंधित सवाल पूछा तो पेंशन को लेकर कोई जवाब नहीं दिया।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना