पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Panipat
  • Panipat News Haryana News 20 Years Imprisonment Of Rape Victim Minor Gang Girl Was In Exile She Was Also Awarded Equal Punishment

रेप के दाेषी काे 20 साल की कैद, नाबालिग दाेस्त लड़की भगाने में साथ था, उसे भी बराबर की सजा

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
9वीं कक्षा की नाबालिग छात्रा से रेप करने के दाेषी सुमित उर्फ काला काे काेर्ट ने 20 साल के कारावास की सजा सुनाई है। उसके नाबालिग दाेस्त ने लड़की काे नशीला पदार्थ सुंघाकर भागने में साथ दिया था, इसलिए काेर्ट ने उसे भी बराबर का दाेषी मानते हुए 20 साल की कैद सुनाई है। दाेनाें पर 80-80 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया। जाे पीड़िता काे दिया जाएगा। जुर्माना नहीं देने पर 2-2 साल की जेल अतिरक्त काटनी पड़ेगी। इसके अतिरिक्त पीड़िता काे 5 लाख रुपए का अतिरिक्त मुअावजा दिलाया जाएगा। यह फैसला अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश एवं फास्ट ट्रैक काेर्ट की जज शशिबाला चाैहान ने बुधवार काे सुनाया है।

घटना 31 जुलाई 2017 की है। उस समय पीड़िता की उम्र 16 साल थी। वह सनाैली राेड पर एक काॅलाेनी में रहती है। सुबह 7:30 बजे वह स्कूल पहुंच गई थी। करीब 8 बजे सनाैली राेड चंद्र काॅलाेनी बस्ती निवासी सुमित उर्फ काला पुत्र विनाेद कुमार व उसका नाबालिग दाेस्त स्कूल में अाए। सुमित ने कहा कि मां बीमार हाे गई है, घर चलाे। स्कूल के पीछे वाले गेट पर सुमित ने रूमाल सुंघा दिया, जिससे छात्रा अचेत हाे गई। दाेनाें बाइक पर बीच में बैठाकर छात्रा काे हैदराबादी अस्पताल के सामने सत्या गेस्ट हाउस में ले गए। कमरे में ले जाकर सुमित ने उसके साथ रेप किया। माेनू कमरे के बाहर से अस्पताल में चला गया। बेहाेश हाेने के बाद अाराेपी छात्रा काे सनाैली राेड पर एक गुरुद्वारा के पास छाेड़कर चले गए। बाद में मां ने उसकाे सिविल अस्पताल पहुंचाया। दूसरे दिन हाेश अाने पर उसने अापबीती बताई। इस पर कंट्राेल रूम में फाेन कर पुलिस काे सूचना दी गई। पुलिस ने छात्रा के बयान पर केस दर्ज किया। 5 अगस्त 2017 काे सुमित गिरफ्तार कर घटना में इस्तेमाल बाइक बरामद की गई। 31 अगस्त काे दाेस्त काे डिटेन किया गया।

छात्रा से एक तरफा प्रेम करता था सुमित

सुमित ने पूछताछ में बताया था कि वह छात्रा से एक तरफा प्रेम करता था। याेजनाबद्ध तरीके से उसने छात्रा काे स्कूल के पिछले गेट पर बुलाया अाैर नशीला पदार्थ सुंघाकर ले गया। पीड़िता की अाेर से केस लड़ रहे सीनियर वकील सुभाष सैनी बताया कि काेर्ट ने अच्छा फैसला सुनाया है। समाज काे मैसेज देने के लिए रेप में अपने दाेस्त का साथ देने वाले नाबालिग दाेस्त काे भी बराबर की सजा दी है। घटना के समय नाबालिग की उम्र 16 साल थी। काेर्ट ने फैसले में लिखा है कि नाबालिग दाे साल तक बाल सुधार गृह में रहेगा।

खबरें और भी हैं...