33 केवीए पावर हाउस को ताला लगाकर गया डीसी रेट का कर्मचारी बर्खास्त

Panipat News - कच्चे कर्मचारियों को पक्का व ठेका प्रथा बंद करने समेत मुद्दों को लेकर हुई राष्ट्रव्यापी हड़ताल शामिल हुए बिजली...

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 04:11 AM IST
Panipat News - haryana news 33 kwa power house locked by dc rt employee dismissed
कच्चे कर्मचारियों को पक्का व ठेका प्रथा बंद करने समेत मुद्दों को लेकर हुई राष्ट्रव्यापी हड़ताल शामिल हुए बिजली निगम में डीसी रेट पर लगे कर्मचारी राकेश को बर्खास्त (टर्मिनेट) कर दिया गया है। कर्मचारी पर आरोप है कि वह सेक्टर-29 पार्ट-1 सब स्टेशन के दरवाजे पर ताला लगाकर उसे लावारिस हालत में छोड़कर चल गया था। इसका पता चलते ही सब स्टेशन पर पहुंचे एसडीओ रामेंद्र मलिक ने पावर हाउस के दरवाजे का ताला तोड़कर अंदर प्रवेश करके स्थिति को संभाला था।

एसडीओ रामेंद्र मलिक ने बताया कि किसी भी कर्मचारी को पावर हाउस व कार्यालयों को ऐसे लावारिस हालत में छोड़कर जाने के निर्देश नहीं थे। टीडीएस कंपनी के माध्यम से डीसी रेट के कर्मचारी राकेश पुत्र ओमप्रकाश इस बात को नहीं समझा। 8 व 9 जनवरी को हुई हड़ताल के दौरान वह 33 केवीए पावर हाउस सेक्टर-29 पार्ट-1 पर ड्यूटी थी। व न केवल पावर हाउस को खाली छोड़कर चला गया बल्कि दरवाजे पर ताला भी लगा गया। बाद में सरकारी फोन को भी बंद कर दिया और चाबी भी अपने साथ ले गया।

यूनियन नेता बोले- अधिकारियों से बात कर निकालेंगे समाधान

हो सकता था बड़ा हादसा

इस पावर हाउस में 8.5 एमवीए की क्षमता वाले 3 ट्रांसफार्मर हैं। 33 हजार वोल्ट की लाइन इसमें आकर उतरती है। ऐसे में फिल्ड या पावर हाउस में फाल्ट आ जाए और लाइन चलती रहे तो ट्रांसफार्मर भी फट सकते हैं और फिल्ड में किसी भी प्रकार की अप्रिया घटना हो सकती है। इसी कारण ओमप्रकाश के खिलाफ उसकी कंपनी को रिपोर्ट भेज दी थी। कंपनी ने इसे घोर लापरवाही माना और राकेश के नाम से बर्खास्त पत्र जारी कर दिया। साथ ही निगम की ओर से भी राकेश के खिलाफ पुलिस को शिकायत दे दी गई।

एसडीओ को फोन करके गया था राकेश : सचिव

सर्व कर्मचारी संघ पानीपत के जिला सचिव तेजपाल सिंह का कहना है कि बिजली निगम चाह रहा था कि हड़ताल में कोई कर्मचारी शामिल न हो। एसडीआे भी इसी बात पर अड़े हुए थे। सभी कर्मचारियों को यूनियन की ओर से भी पहले ही हिदायतें थी गई थी कि किसी भी रूप में काम बाधित नहीं करना है। अगर आपातकालीन कोई घटना होती है तो हड़ताल के दौरान भी उस स्थिति में संबंधित विभागों में काम करना है। ऐसा ही ओम प्रकाश ने भी किया है। वह बिना संपत्ति का नुकसान पहुंचाए एसडीओ को सूचना देकर हड़ताल में शामिल हुआ था। सोमवार को इस बारे में अधिकारियों से बातचीत की जाएगी।

X
Panipat News - haryana news 33 kwa power house locked by dc rt employee dismissed
COMMENT