• Hindi News
  • Haryana
  • Panipat
  • Panipat News haryana news 39do not know how many seas are hiding in these eyes shoot at the terrorists do not shoot in the bars39
विज्ञापन

‘न जाने कितने समंदर छुपाए बैठा हूं इन आंखों में, आतंकियों को देखते ही गोली मारो, मत मारो सलाखों में’

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 05:21 AM IST

Panipat News - जीटी रोड स्थित आर्य पीजी कॉलेज के सभागार में शनिवार को हिंदी-उर्दू साहित्य संघ, चंडीगढ़ ने पुलवामा में शहीद हुए...

Panipat News - haryana news 39do not know how many seas are hiding in these eyes shoot at the terrorists do not shoot in the bars39
  • comment
जीटी रोड स्थित आर्य पीजी कॉलेज के सभागार में शनिवार को हिंदी-उर्दू साहित्य संघ, चंडीगढ़ ने पुलवामा में शहीद हुए जवानों को काव्य गोष्ठी के माध्यम से श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर करीब 29 साहित्यकारों ने अपने-अपने भावों को व्यक्त करते हुए शहीद सैनिकों के लिए काव्य पेश किए। साहित्यकार सुलेख जैन ने कहा कि न जाने कितने समंदर छुपाए बैठा हूं इन आंखों में, आतंकियों को देखते ही गोली मारो मत मारो सलाखों में।

साहित्यकार भारत भूषण ने कहा कि रखवाले काे मार के पत्थर कैसी घाटी चाहते हो हरपल रोती लहुलुहान ऐसी माटी चाहते हो। इम्तियाज अली ने कहा कि मोहब्बत के ताबूतों में हर एक निशान जिंदा है उसके लबों पर आज भी मेरी कहानी जिंदा है। अंकुर बंसल ने कहा कि जलता है दिल तो जलने दो कौन सा मौका है जो सबको दिखाई देगा। इस अवसर पर नवीन कुमार, अंजलि सिफर, प्रकाश सत्य, रवि गोस्वामी, रमेश चंद्र पुहाल, केसर कमल शर्मा, लक्की नूर, रोहिल अंजान, हितेश सोनी, दानिश अली खान, अली जौहर खान, वाशु पांडेय, डॉ. कृष्णा आर्या, परमानंद दीवान, नवीन कुमार, दिलजीत हिंदुस्तानी, नेहा, सना परवीन, अमनदीप अमन, धर्मेंद्र मुसाफिर मौजूद रहे।

X
Panipat News - haryana news 39do not know how many seas are hiding in these eyes shoot at the terrorists do not shoot in the bars39
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन