• Hindi News
  • Haryana
  • Panipat
  • Panipat News haryana news heavy dose of sleep given to a child troubled by diarrhea innocent by unconscious for 30 hours

दस्त से परेशान बच्चे को दिया नींद का हैवी डोज, 30 घंटे से बेहोश है मासूम

Panipat News - कैंसर से लड़कर जीता बचपन, खिलखिलाई जिंदगी सेना भर्ती में 3 जिलों के 2230 युवाओं ने दिया फिजिकल फिटनेस टेस्ट, 464...

Feb 15, 2020, 08:26 AM IST
कैंसर से लड़कर जीता बचपन, खिलखिलाई जिंदगी

सेना भर्ती में 3 जिलों के 2230 युवाओं ने दिया फिजिकल फिटनेस टेस्ट, 464 पास

सेना भर्ती रैली के पांचवें दिन शुक्रवार को राजीव गांधी खेल परिसर में सैनिक लिपिक, स्टोरकीपर पदों के लिए झज्जर, सोनीपत, पानीपत जिले के 2230 युवाओं ने फिजिकल फिटनेस का प्रमाण देने के लिए 1600 मीटर रेस, जिगजैग, लंबी कूद, बीम टेस्ट में हिस्सा लिया। कड़ी सख्ती के दौरान हुए फिजिकल फिटनेस टेस्ट में 464 युवा ही पास हो सके, जिन्हें मेडिकल के लिए चयनित किया गया। सेना भर्ती के अंतिम दिन 15 फरवरी को सैनिक लिपिक, स्टोर कीपर व ट्रेड्समैन पदों के लिए शनिवार को रोहतक, सोनीपत, पानीपत और झज्जर जिले की सभी तहसील से रजिस्ट्रेशन कराने वाले 3876 उम्मीदवार शामिल हाेने की संभावना है। भर्ती डायरेक्टर कर्नल रतनदीप खान ने बताया कि कड़ी निगरानी के बीच सेना भर्ती कराई जा रही है। संदिग्ध मिलने वाले युवाओं को भर्ती से बाहर किया जा रहा है।

यह है लापरवाही


जनगणना में नागरिकों से किसी तरह के दस्तावेज नहीं मांगे जाएंगे, पूछे जाएंगे सवाल, डाटा होगा पूरी तरह से सुरक्षित


हरियाणा में जनगणना में 58000 प्रगणक और पर्यवेक्षकों की ड्यूटी

भास्कर न्यूज | राजधानी हरियाणा

महारजिस्ट्रार एवं जनगणना आयुक्त विवेक जोशी ने कहा कि जनगणना विश्व की सबसे बड़ी प्रशासनिक और सांखिकीय प्रक्रिया है। यह जनगणना प्रथम बार डिजिटल मोड पर की जा रही है ताकि समय पर जनगणना आंकड़ों को जारी किया जा सके। जनगणना के आंकड़े विशेष रूप से डिजाइन किए गए मोबाइल-ऐप पर एकत्र किए जाएंगे। यह भी पहली बार होगा कि जनगणना गतिविधियों एवं प्रगति का अनुवीक्षण सेंसस मॉनिटरिंग एंड मैनेजमेंट सिस्टम द्वारा किया जाएगा। जनगणना 2021 के लिए नागरिकों से किसी प्रकार के दस्तावेज नहीं मांगे जाएंगे। नागरिकों से केवल कुछ प्रश्नों के जवाब मांगे जाएंगे। जनगणना करते समय प्रधान जनगणना अधिकारी इस बात का ध्यान रखें कि नागरिकों से केवल प्रश्नावली में दिए गए प्रश्न ही पूछे जाएं। जनगणना के समय एकत्रित किया गया व्यक्तिगत डाटा पूरी तरह से सुरक्षित रहता है।

इस संदर्भ में शुक्रवार को चंडीगढ़ में चीफ सेक्रेटरी केशनी आनंद अरोड़ा की अध्यक्षता में बैठक का आयोजन किया गया। उन्होंने बताया कि हरियाणा में लगभग 58000 प्रगणक और पर्यवेक्षकों को आंकड़े एकत्रीकरण के काम में लगेंगे। जिला जनगणना अधिकारियों एवं तहसीलदार-सह-चार्ज अधिकारियों का जिला स्तरीय प्रशिक्षण 19 फरवरी से चार मार्च के बीच आयोजित किया जाएगा। इसके बाद लगभग 900 फील्ड ट्रेनरों का प्रशिक्षण मार्च में आयोजित किया जाएगा। इन फील्ड ट्रेनरों द्वारा अप्रैल 2020 में प्रगणकों एवं पर्यवेक्षकों को प्रशिक्षित किया जाएगा।

हरियाणा में जनगणना 2021 के पहले चरण में मकान सूचीकरण व मकानों की गणना का कार्य एक मई से 15 जून तक किया जाएगा। इस कार्य के लिए राज्य में लगभग 58000 प्रगणक और पर्यवेक्षकों को आंकड़े एकत्रीकरण के काम में लगाया जाएगा।

जनगणना सामाजिक-आर्थिक और जनसांख्यिकी डाटा के रूप में सबसे विश्वसनीय स्रोत है, इसलिए यह बहुत महत्वपूर्ण है कि जनगणना पर डाटा विश्वसनीय होना चाहिए। जनगणना 2021 इतिहास में पहली जनगणना होगी जो पूरी तरह से डिजिटल होगी। इस जानकारी से राज्यों को भी अपनी योजनाएं बनाने में बहुत मदद मिलेगी। जनगणना 2021 के लिए आमजन को जागरूक करने के लिए व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार किया जाएगा ताकि नागरिक गणना की बारिकीयों से अवगत हो सकें।

ये होगा शेड्यूल : एक मई से 15 जून 2020 के मध्य आयोजित होने वाले जनगणना के प्रथम चरण में मकान सूचीकरण व मकानों की गणना की जाएगी, इसके तहत मकानों की गुणवत्ता, परिवार में उपलब्ध सुख-सुविधाओं और परिवार में उपलब्ध सम्पत्तियों से संबंधित प्रश्न पूछे जायेंगे। जनगणना का द्वितीय चरण-जनसंख्या की परिगणना 9 फरवरी 2021 से 28 फरवरी, 2021 तक एवं उसके साथ रिविजनल राउंड एक से 5 मार्च 2021 में मध्य आयोजित किया जाएगा। इस अवसर पर मुख्य सचिव द्वारा जनगणना कार्य निदेशालय हरियाणा की वेबसाइट को भी लांच किया गया। इस वेबसाईट पर जनगणना से संबंधित परिपत्र, अधिसूचनाएं, एवं बार बार पूछे जाने वाले प्रश्न एवं अन्य महत्वपूर्ण तथ्य समाहित होंगे। बैठक में सभी मंडल आयुक्त, जिला उपायुक्त, नगर निगम के आयुक्त सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

गुड़गांव में चीन से आए अब तक 80, शुक्रवार को 10 नए यात्रियों के आने की रिपोर्ट मिली

गुड़गांव | कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग के पास प्रदेश के हेडक्वार्टर से अब तक चीन से लौटे कुल 80 लोगों की रिपोर्ट है। एयरपोर्ट अथॉरिटी के अनुसार शुक्रवार को भी नए दस लोगों के गुड़गांव में पहुंचने की रिपोर्ट मिली। जिन पर स्वास्थ्य विभाग ने निगरानी करने का दावा किया है। हालांकि सीएमओ डा. जेएस पूनिया ने बताया कि अब तक चीन से लौटे 73 लोगों से वन टू वन बात कर चुके हैं और जांच भी करवाई गई है। सभी रिपोर्ट कोरोना की नेगेटिव मिली है।

शुक्रवार सुबह एयरपोर्ट अथॉरिटी ने हाल ही में चीन से लौटे 10 यात्रियों की सूची स्टेट हैडक्वार्टर को सौंपी है। हैडक्वार्टर से सभी नाम जिला स्वास्थ्य विभाग को भेजे गए है। सभी लोग शहर के अलग-अलग एरिया के रहने वाले है। सभी की उम्र 31-36 साल है। स्वास्थ्य विभाग की टीम सभी लोगों के संपर्क में है। शुक्रवार को सभी लोगों से उनके घर जाकर मिला गया। सभी को विभाग ने सर्विलांस पर रखा है।

ओयो होटल में ठहरे युवक ने चेकआउट के दौरान काउंटर से 25 हजार रुपए निकाले

गुड़गांव | ग्वाल पहाड़ी स्थित ओयो टाउन हाउस-223 के प्रबंधक लव कुमार ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि गत 7 फरवरी को यूपी के बिजनौर निवासी युवक दीपक कुमार ने कमरा बुक कराया रखा था। यहां आने के बाद 8 फरवरी को अलसुबह 5:30 बजे चेकआउट करने के लिए रिसेप्शन काउंटर पर आया। उस वक्त काउंटर पर तैनात कर्मचारी किसी काम से कमरे में गया हुआ था। इसका फायदा उठाकर आरोपी ने दूसरी चाबी से दराज से 25 हजार रुपए निकाल लिए और दोबारा अपने कमरे में चला गया। करीब एक घंटे बाद वह दोबारा आया और चेकआउट कर निकल गया।

केंद्र सरकार पर अध्यादेश लाने को बनाएगी दबाव, 16 फरवरी को जिला मुख्यालयों पर होगा प्रदर्शन

भास्कर न्यूज | राजधानी हरियाणा

सुप्रीम कोर्ट के एक फैसले में सरकारी नौकरियों और प्रमोशन में आरक्षण को मौलिक अधिकार मानने से इनकार किए जाने को लेकर कांग्रेस अब केंद्र सरकार पर लोकसभा में अध्यादेश लाने के लिए दबाव बनाएगी। इसके लिए उसने सड़क पर उतरने की तैयारी कर ली है। रविवार को सभी जिला मुख्यालयों पर कांग्रेसी नेता और कार्यकर्ता सड़क पर उतरकर प्रदर्शन करेंगे और राज्यपाल के जरिए राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजेंगे। कांग्रेस की मांग है कि केंद्र सरकार इस फैसले को रद्द कराने के लिए अध्यादेश लाए। पत्रकारों से बातचीत करते हुए कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष कुमारी सैलजा और पार्टी के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि सरकार को इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दाखिल करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इस फैसले के लिए केंद्र सरकार जिम्मेदार है। जिससे सत्तारुढ़ पार्टी का दलित विरोधी चेहरा भी सामने आया है। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सैलजा ने इस दौरान एनसीआरबी की रिपोर्ट के आंकड़ों का हवाला देते हुए कहा कि प्रदेश में दलितों पर लगातार अत्याचार बढ़ रहा है। 2017 में 43 हजार से ज्यादा केस दर्ज हुए हैं। प्रदेश में ही हर साल दलितों पर अत्याचार के 20 फीसदी मामले बढ़ रहे हैं। सुरजेवाला ने विधानसभा में प्रदेश सरकार द्वारा रखे रिकॉर्ड का हवाला देते हुए दावा किया कि प्रदेश में पिछले पांच-छह सालों में साढ़े तीन हजार से ज्यादा केस दलित उत्पीड़न के दर्ज हुए हैं। आरोप लगाया कि बैकलॉग नहीं भरा जा रहा है। यहां पर पिछड़ा वर्ग की नौकरियां 90 फीसदी घटी है। पोस्ट स्कॉलरशिप घोटाले का मामला भी उन्होंने उठाया। साथ ही कहा कि इसके बजट में भी कमी कर दी गई है।

पुलवामा हमले पर सुरजेवाला ने लगाई सवालों की झड़ी

मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने पुलवामा हमले की पहली बरसी पर केंद्र सरकार से कई सवाल पूछे। उन्होंने जवानों को नमन किया और इसके बाद केंद्र से पूछा कि वह इस हमले की रिपोर्ट को सार्वजनिक क्यों नहीं कर रही। आखिर ऐसे सुरक्षित स्थान तक 350 किलो आरडीएक्स कैसे पहुंच गई। कैसे एक वाहन विस्फोटक पदार्थ लेकर सेना के रास्ते में आ गया। उन्होंने कहा कि इस हमले की सूचना प्रधानमंत्री तक पहुंचाने में आठ-नौ घंटे की देरी की गई। इसमें क्या जम्मू-कश्मीर में तैनात डीएसपी देवेंद्र सिंह की भी भूमिका रही है। उन्होंने कहा कि इस मामले पर गृह मंत्री को भी पूरी स्थिति से देश को अवगत कराना चाहिए।

लापरवाही } जींद के नागरिक अस्पताल में फार्मािसस्ट की गलती, निजी अस्पताल में भर्ती

एक्सपर्ट व्यू

वर्ल्ड चाइल्ड कैंसर डे : पीजीआई में कैंसर पीड़ित 54 बच्चों ने पहुंचकर डांस कर दिया जिंदगी जीने का संदेश


प्रमोशन में आरक्षण के समर्थन में सड़कों पर उतरेगी कांग्रेस

भास्कर न्यूज | जींद

जींद नागरिक अस्पताल में बीमार बच्चे के पिता को थप्पड़ मारने का मामला अभी ठंडा नहीं हुआ था। अस्पताल की लापरवाही का एक और मामला सामने आ गया। दस माह बच्चे के लिए डाॅक्टर ने जिंक की गोली लिखी लेकिन फार्मासिस्ट ने नशीली ओलंजापाइन पकड़ा दी। गोली लेने के बाद 30 घंटे बीत जाने के बावजूद बच्चे को अभी तक होश नहीं आया है। फिलहाल बच्चे को एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। रानी तालाब क्षेत्र निवासी आशीष गर्ग ने बताया कि उसके 10 माह के बेटे को दस्त लगने पर उसका छोटा भाई निशांत नागरिक अस्पताल लेकर गया था। वहां डाॅक्टर ने बच्चे का चेकअप करने के बाद दवा लिख दी। वहां से पर्ची लेकर वह लोग डिस्पेंसरी से दवा लेकर घर आ गए। घर आने के बाद फार्मासिस्ट द्वारा बताए अनुसार बच्चे को दवा दे दी। दवा देने के कुछ समय बाद बच्चा गहरी नींद में सो गए।

सुबह छह बजे तक होश नहीं होने पर बच्चे को एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया। वहां चिकित्सक जब बच्चे को दी गई दवाओं के बारे पूछा तो उन्होंने दवा दिखाई। इस पर डाॅक्टर ने बताया कि बच्चे को गलत दवा दी गई है। फिलहाल मामले की शिकायत सीएमओ को दी गई है। गौरतलब है कि इससे पहले भी अस्पताल में बच्चे के उपचार के लिए आए एक पिता को थप्पड़ मारने का वीडियो वायरल हुआ था, जिसको लेकर काफी बवाल हुआ था।




बच्चे को दी गई दवा से बेहोश हुआ बच्चा।

बैठक की अध्यक्षता करतीं चीफ सेक्रेटरी केशनी आनंद अरोड़ा।

रोहतक पीजीआई में कैंसर पीड़ित बच्चों ने डांस कर दिखाया हौसला।

भास्कर न्यूज | राेहतक

इन बच्चाें ने अभी जिंदगी के 14 बसंत भी नहीं देखे अाैर ये ब्लड कैंसर जैसी बीमारी की चपेट में आ गए। अपने हौसले और परिजनों की हिम्मत के दम पर इनमें से कई अब ठीक हो चुके हैं और कुछ ठीक होने की राह पर है। वर्ल्ड चाइल्ड कैंसर डे के अवसर पर पीजीआई के एलटी वन में आयोजित जागरूकता सेमिनार में शुक्रवार को 54 कैंसर पीड़ित बच्चे अपने परिजनों के साथ पहुंचे। यहां उन्होंने जब डांस और पेंटिंग में अपना जोश दिखाया। उनकी मुस्कान देखकर एक बार तो परिजन भी अपना दर्द भूल गए। एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. अलका यादव ने कहा कि प्रत्येक वर्ष औसतन 50 ब्लड कैंसर से पीड़ित बच्चों के नए केस सामने आते हैं। 10 साल के कार्यकाल में नियमित उपचार के बाद 14 साल से कम उम्र के 150 बाल रोगियों को स्वस्थ किया जा चुका है।

|5

पानीपत, शनिवार 15 फरवरी, 2020

हरियाणा**

X
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना