• Hindi News
  • Haryana
  • Panipat
  • Panipat News haryana news just like we cannot change our mother similarly we cannot change our mother tongue shastri

जैसे हम अपनी मां को नहीं बदल सकते, वैसे ही मातृभाषा को भी नहीं बदल सकते : शास्त्री

Panipat News - एसडी पीजी कॉलेज में शुक्रवार काे हिंदी दिवस गंभीर मंथन के भाव के साथ मनाया गया। मुख्य अतिथि लेखक, विद्या वाचस्पति...

Bhaskar News Network

Sep 14, 2019, 08:35 AM IST
Panipat News - haryana news just like we cannot change our mother similarly we cannot change our mother tongue shastri
एसडी पीजी कॉलेज में शुक्रवार काे हिंदी दिवस गंभीर मंथन के भाव के साथ मनाया गया। मुख्य अतिथि लेखक, विद्या वाचस्पति साहित्य एवं ज्योतिषाचार्य महावीर प्रसाद शास्त्री रहे। कहा कि हिंदी की दुर्दशा है यह हमारा भ्रम है। जैसे हम अपनी मां को नहीं बदल सकते वैसे ही हम अपनी मातृभाषा को भी नहीं बदल सकते हैं।

महावीर प्रसाद शास्त्री ने कहा कि हिंदी का विकास होता रहा है और अब भी हो रहा है। जिस भाषा में हम राेते हैं, हंसते हैं अाैर स्वप्न देखते हैं। उसे कैसे भूल सकते हैं। दूसरा भाषाओं को सीखना भी अच्छी बात है। बस हमें इतना ध्यान रखना है कि ऐसा करते समय हम जाने-अनजाने अपनी भाषा का अपमान न करें। उन्हाेंने जय शंकर प्रसाद की कविता ले चल वहां बुलावा देकर गाकर सुनाई। पूर्व सिविल सर्जन एवं स्वास्थ्य सेवा निदेशक डॉ. एसके शर्मा ने हिंदी दिवस पर गजल दुःख में अपने गैर ही निकले, हमने आजमा के देख लिया, हमने दिल लगा के देख लिया गाई। प्राचार्या डाॅ. अनुपम अराेड़ा ने बताया कि हाल ही में महावीर शास्त्री काे हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने हरियाणा संस्कृति गौरव सम्मान से सम्मानित किया है। इनर व्हील क्लब से अंजू शर्मा और गुरुमुख सिंह वडेच भी कार्यक्रम में उपस्थित रहे। काॅलेज प्रधान डॉ. एसएन गुप्ता, हिन्दी विभागाध्यक्ष डॉ. कुसुम लता ने अतिथियाें का विवेकानंद डायरी और शाॅल भेंट कर सम्मानित किया। इस अवसर पर डॉ. भारती गुप्ता, डॉ. जगमती, प्रो. गोपाल, प्रो. कविता अाैर डॉ. संगीता गुप्ता अादि माैजूद रहीं।

X
Panipat News - haryana news just like we cannot change our mother similarly we cannot change our mother tongue shastri
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना