पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सिविल अस्पताल में हर डॉक्टर के रूम के बाहर लगेगी एलईडी स्क्रीन

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
14 लाख की अाबादी पर बने एक मात्र सिविल अस्पताल में अब अाेपीडी करने वाले हर डाॅक्टर के बाहर एलईडी स्क्रीन लगाई जाएंगी। इन स्क्रीन पर मरीजाें काे अपनी बारी के लिए टाेकन नंबर मिलेगा। अगले सप्ताह से निजी अस्पतालाें की तर्ज पर अस्पताल में टाेकन सिस्टम शुरू हाे जाएगा। सिविल अस्पताल में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियाें ने नेशनल विजिट कराने की तैयारी शुरू कर दी है। सिविल अस्पताल एक महीने में हर सुविधा निजी अस्पतालों की तर्ज पर ही मिलनी शुरू हाे जाएगी। बीते एक माह में दाे बार अस्पताल का निरीक्षण करने के लिए राज्य की टीम भी अा चुकी है। जाे छाेटी-माेटी कमियां मिली थी वाे पूरी की जा रही हैं।

एमएस डाॅ. अालाेक जैन ने बताया कि अस्पताल में हर सुविधा मरीजाें के हित के लिए शुरू की जा रही है। अस्पताल में टाेकन सिस्टम, रजिस्ट्रेशन कार्यालय, एनाउंसमेंट कार्यालय बनाया जा रहा है। वहीं मरीजाें एलईडी स्क्रीन पर अावश्यक सूचना भी मिलेगी। अस्पताल में अाने वाले मरीजाें काे सफाई का ध्यान रखना चाहिए।

ये नए प्रयास अस्पताल में किए जा रहे हैं

एनाउंसमेंट कार्यालय

सिविल अस्पताल में अक्सर सुनने में अाता है कि मरीजाें लाइन में लगा था, या अस्पताल परिसर से मरीज का पर्स, वाहन चाेरी हाे गया। वहीं कई बार बच्चे भी खेलते-खेलते इधर-उधर भटक जाते हैं। एनाउंसमेंट कार्यालय बनाए जाने के बाद मरीज अपनी एनाउंसमेंट करवा सकता है।

अगले सप्ताह से एलईडी स्क्रीन लगेंगी

सिविल अस्पताल में अस्पताल परिसर में एलईडी स्क्रीन लगाने के ऑर्डर दिए गए हैं। अगले सप्ताह से शुरू भी हाे जाएंगी। पंजीकरण कार्यालय, दवा कार्यालय सहित अाेपीडी करने वाले डाॅक्टराें के बाहर लगाई जाएंगी। इन स्क्रीन पर मरीजाें काे अपनी बारी के लिए टाेकन नंबर मिलेगा। ये इसलिए जरूरी है क्याेकि सिविल अस्पताल में मरीजाें में अपनी बारी काे लेकर हमेशा झगड़ा हाेता है।

पार्काें में डस्टबिन

स्वस्थ अस्पताल बनाने पर विशेष जाेर दिया जा रहा है। पार्काें में सफाई करवाई गई है। बुधवार काे 20 से ज्यादा गीले-सूखे कूड़े डस्टबिन लगाए गए हैं। इमरजेंसी वार्ड के सामने हर्बल पार्क बनाया गया है। अस्पताल परिसर में जगह-जगह थ्री सीटर कई कुर्सियां लगाई गई हैं।

जरूरी जानकारी भी मिलेगी

अस्पताल में अलग-अलग जगह कई स्क्रीन वाे भी लगाई जाएंगी, जिन पर संदेश चलेगा। जैसे अाज काैन सा डाॅक्टर अस्पताल में नहीं, कतार में लगे रहे, अस्पताल परिसर में सफाई रखे, कूड़ा डस्टबिन में ही डालंे, झगड़ा न करें, किस दिन काैन सा बाेर्ड बैठेगा की जानकारी मिलेगी।

24 घंटे रजिस्ट्रेशन सेवा

इमरजेंसी वार्ड के बाहर रजिस्ट्रेशन कार्यालय बनवाया जा रहा है। इस कार्यालय में इमरजेंसी में अाने वाले हर मरीज का रजिस्ट्रेशन किया जाएगा। ये 24 घंटे खुला रहेगा। मरीजाें की पूरी जानकारी अाॅनलाइन हाेगी। इसके लिए ई-उपचार सिस्टम लगाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...