क्राइम / हत्या करने आए बदमाश की पुलिस से मुठभेड़, पैर में गोली लगने पर पकड़ा

गोली लगने के बाद घायल आरोपी पंकज। गोली लगने के बाद घायल आरोपी पंकज।
प्रॉपर्टी डीलर पर पिस्टल ताने खड़ा आरोपी पंकज। प्रॉपर्टी डीलर पर पिस्टल ताने खड़ा आरोपी पंकज।
X
गोली लगने के बाद घायल आरोपी पंकज।गोली लगने के बाद घायल आरोपी पंकज।
प्रॉपर्टी डीलर पर पिस्टल ताने खड़ा आरोपी पंकज।प्रॉपर्टी डीलर पर पिस्टल ताने खड़ा आरोपी पंकज।

  • डाबर कॉलोनी में प्रॉपर्टी डीलर को दी थी धमकी, एक घंटे बाद पकड़ा गया

दैनिक भास्कर

Dec 21, 2019, 11:15 AM IST

पानीपत। सिटी थाने के पास इंडियन ट्रेवल्स के संचालक सुनील और मनमोहन नगर में नौ गजा पीर के पास 16 वर्षीय राशिद को गोली मारकर हत्या की कोशिश करने वाला बदमाश पंकज शुक्रवार रात पुलिस मुठभेड़ के बाद पकड़ा गया। वह एक घंटे पहले साथियों को लेकर डाबर कॉलोनी में प्रॉपर्टी डीलर मनजीत के अॉफिस में गया था। वहां रिवॉल्वर अड़ा डीलर से पूछा कि दोस्त कहां है, उसे जान से मारना है। थोड़ी देर बाद ही सीआईए-2 और डिटेक्टिव टीम ने निजामपुर मोड़ पुलिया के पास पैर में गोली मारकर उसे पकड़ लिया। उससे रिवॉल्वर बरामद हुई है। पंकज को खानपुर रेफर किया है। उसके साथियों की तलाश में तीनों सीआईए की टीम छापेमारी कर रही है। 

सीआईए-2 इंचार्ज दीपक कुमार ने बताया कि मूलरूप से उचाना निवासी 22 वर्षीय पंकज पुत्र रमेश यहां देसराज कॉलोनी में रह रहा था। मुखबिर ने सूचना दी गोली मारकर जानलेवा हमला कर शहर मे दहशत फैलाने वाले 3 बदमाश निजामपुर मोड़ पुलिया के पास किसी वारदात को अंजाम देने की फिराक में हैं। 
पुलिस टीम मौके पर पहुंची। जैसे ही पुलिसकर्मी ने गाड़ी से उतरने दरवाजा खोला तो आरोपियों ने फायरिंग कर दी। बचाव में पुलिस फायरिंग में पंकज के पैर में एक गोली लगी और वह गिर पड़ा। उसके दो साथी मौके से भाग गए।

प्रॉपर्टी डीलर पर रिवॉल्वर तानकर बोला गोली मारूं
डाबर कॉलोनी में रहने वाले मनजीत पुत्र अमरसिंह प्रॉपर्टी डीलर है। उन्होंने पुलिस को शिकायत दी कि घर के पास ही उनका अॉफिस है। शुक्रवार शाम 7 बजे वह अॉफिस में थे, तभी पंकज आया और बोला कि तेरा क्या नाम है। नाम बताने पर पूछा कि तेरे दोस्त इंद्रजीत उर्फ सोहना, आशू और प्रवीन उर्फ बारू कहां है, जान से मारना है। 

मना करने पर पंकज ने रिवॉल्वर निकालकर मनजीत पर तान दी और बोला कि गोली मारू क्या। तभी उसके साथी आए और बोले कि इसको छोड़ो, आशू को ढूंढ़ते हैं। फिर जान से मारने की धमकी देकर सभी भाग गए। उनके 8 से 9 साथी अॉफिस के बाहर खड़े थे। जिनमें सिवाह निवासी विकास उर्फ विक्की, उसका भाई अंकुर, राजेश व पंकज हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना