प्रभु ने भागवत की संरचना मनुष्य को तारने के लिए की है : पूर्ण चंद

Panipat News - समालखा क्षेत्र के गांव झट्टीपुर में 7 दिवसीय श्रीमद‌‌् भागवत कथा संस्काराें की कथा में तीसरे तीन पूरण चंद महाराज...

Jan 16, 2020, 08:45 AM IST
Samalkha News - haryana news prabhu has designed bhagwat to star human beings purna chand
समालखा क्षेत्र के गांव झट्टीपुर में 7 दिवसीय श्रीमद‌‌् भागवत कथा संस्काराें की कथा में तीसरे तीन पूरण चंद महाराज ने श्रद्धालुओं काे भागवत के बारे में बताया। उन्हाेंने कहा कि भागवत श्रवण करने का फल तभी प्राप्त होता है, जब भागवत के प्रति हमारा दृढ़ विश्वास होगा। भागवत को हमें श्री राधा रानी व ठाकुर जी का स्वरूप ही समझना चाहिए। इसी विश्वास से ही हमारी सभी प्रकार की इच्छाएं भी पूर्ण होंगी। भगवान ने भागवत की संरचना कलियुग में मनुष्यों को तारने के लिए ही की है।

उन्होंने कहा कि देवताओं ने समुद्र मंथन कर जिस अमृत को निकाला था। उस अमृत को हम बिना मंथन किए भागवत सरूप में हासिल कर सकते हैं। इसलिए श्रद्धा विश्वास के साथ भागवत कथा स्थल में आकर श्लोकों का अध्ययन व उन पर अमल करना चाहिए। किसी भी स्थान पर बिना निमंत्रण जाने से पहले इस बात का ध्यान जरूर रखना चाहिए कि जहां आप जा रहे है वहां आपका, अपने इष्ट या अपने गुरु का अपमान हो। यदि ऐसा होने की आशंका हो तो उस स्थान पर जाना नहीं चाहिए। चाहे वह स्थान अपने जन्म दाता पिता का ही घर क्यों हो। कथा के दौरान सती चरित्र के प्रसंग को सुनाते हुए भगवान शिव की बात को नहीं मानने पर सती के पिता के घर जाने से अपमानित होने के कारण स्वयं को अग्नि में स्वाह होना पड़ा।

भक्ति-भावना
कथा सुनाते पूर्णचंद महाराज।

‘भागवत को हमें ठाकुर जी का स्वरूप ही समझना चाहिए’

X
Samalkha News - haryana news prabhu has designed bhagwat to star human beings purna chand
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना