सोनीपत / बुलेट का 21 हजार का चालान, बाइक सवार ने डीएसपी से बात करने को कहा, एएसआई ने नहीं की, कुछ देर बाद चौक पर से हटाया



पुलिस द्वारा किया गया चालान। पुलिस द्वारा किया गया चालान।
X
पुलिस द्वारा किया गया चालान।पुलिस द्वारा किया गया चालान।

  • एसआई को कुछ देर बाद चौक पर ड्यूटी से हटाया जिस मशीन से चालान किया गया वो जमा करवाई, फिर मशीन से कोई चालान नहीं किया 
     

Dainik Bhaskar

Nov 19, 2019, 11:58 AM IST

सोनीपत। नए मोटर व्हीकल एक्ट के तहत पुलिस ने फिर से चालान काटो अभियान तेज कर दिया। रेस्ट हाउस के पास नए एक्ट के तहत चालान करने पर जमकर हंगामा हुआ। एक बुलेट बाइक सवार ने पुलिस की कार्रवाई का विरोध किया। पर नियम तोड़ने पर पुलिस ने बुलेट बाइक सवार का 21 हजार का चालान कर दिया। चालान में साइलेंसर से पटाखे छोड़ने, प्रेशर हॉर्न, हेलमेट नहीं होने का नियम तोड़ना बताया गया। इस दौरान बाइक सवार ने मोबाइल फोन पर किसी अधिकारी का नंबर मिलाकर पुलिस कर्मचारियों से बात करने को कहा, परंतु पुलिस कर्मचारियों ने बात करने से मना कर दिया। पुलिस कर्मी ने अपनी ड्यूटी करना बताया और नियम की पालना करने की नसीहत दी।

 

फोन पर डीएसपी से बात करने को कहा तो मना कर दिया
रायपुर के युवक रोहित ने बताया कि वह अपने दोस्त को सुबह के समय रेलवे स्टेशन पर लेने गया था। दोस्त को लेकर वह स्टेशन से जैसे ही रेस्ट हाउस के पास पहुंचा तो पुलिस कर्मचारियों ने उसे रोक लिया। उससे बाइक के कागजात मांगे। इसके बाद कहा कि बाइक साइलेंसर से पटाखे छोड़ने वाली है। उसने पुलिस कर्मचारियों से विनती की वह साइलेंसर को हटा देगा। उसका हेलमेट का चालान कर दो। इसके बाद भी पुलिस कर्मचारियों ने उसकी एक नहीं सुनीं। उसने अपने परिचित डीएसपी के पास फोन करके इस बारे में मदद मांगी और कहा कि वह साइलेंसर हटा देगा। परंतु मौके पर मौजूद पुलिस कर्मचारियों ने डीएसपी का फोन सुनने से भी मना कर दिया। उसे पुलिस कर्मचारियों की कार्रवाई से लगा जैसे दुश्मनी से निकाली है। उसकी बाइक का 21 हजार रुपए का चालान कर दिया।

 

डीएसपी ने खुद को मीटिंग में बताया, नहीं की बात
जिस एसआई ने युवक रोहित निवासी रायपुर की बाइक का चालान किया, उसे चंद मिनट बाद ही रेस्ट हाउस चौक से हटा दिया गया। वह यहां से पहले पुलिस मुख्यालय लघु सचिवालय गए और फिर उन्हें गीता भवन चौक पर भेजा गया। यहीं नहीं 21 हजार का चालान जिस मशीन से किया था वह मशीन भी ट्रैफिक चौकी में जमा करवा दी गई। इसके बाद इस मशीन से चालान नहीं किए। यह सब किस लिए किया गया कोई बोलने को तैयार नहीं हुआ। मामले पर डीएसपी से बात करने का प्रयास किया, लेकिन उन्होंने खुद को मीटिंग में होना बताया।

 

सोनीपत को ट्रैफिक थाना प्रभारी श्रीभगवान ने बताया कि मामला संज्ञान में है। यातायात नियम तोड़ने पर यह कार्रवाई ट्रैफिक पुलिस ने की। प्रेशर हॉर्न, पटाखे छोड़ने व हेलमेट न होने पर 21 हजार का चालान किया गया है। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना