बहन की शादी में मंढा बांधने के लिए सरकंडे लेने गए इकलौते भाई की ट्रेन से कटने से मौत

Panipat News - इसराना- परढ़ाना रोड पर शुक्रवार को घर से खेत पर जाते समय ट्रैक्टर की चपेट में आने से तीन बेटियों के पिता की मौत हो...

Feb 15, 2020, 07:51 AM IST
Israna News - haryana news the only brother who went to take a reed to tie his sister39s wedding died due to being cut by a train

इसराना- परढ़ाना रोड पर शुक्रवार को घर से खेत पर जाते समय ट्रैक्टर की चपेट में आने से तीन बेटियों के पिता की मौत हो गई। पुलिस ने ट्रैक्टर चालक के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

कर्मबीर सिंह ने बताया कि वह अपने भाई धर्मबीर के बेटे दीपक के पीछे बाइक से खेत की तरफ जा रहा था। परढ़ाना-इसराना रोड़ पर सांगवान फिलिंग स्टेशन के पास सामने से आ रहे ट्रैक्टर ने दीपक को अपनी चपेट में ले लिया। इस हादसे में घायल दीपक को इसराना के निजी अस्पताल में ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। दीपक के पास तीन बेटियां हैं। पहली 8 साल की, दूसरी 5 साल की और दूसरी तीन साल की है। दीपक परढ़ाना की एक कंबल फैक्ट्री में मजदूरी करके परिवार का पालन पोषण करता था।

बेटी के ससुराल में दी घटना की सूचना, गांव में शोक की लहर

बेटी की शादी में राजकुमार ने करीब सात साै लाेगाें के लिए खाना बनाया हुअा था। लेकिन जब बेटे की माैत की खबर सुनी ताे राजकुमार पूरी तरह टूट गया। बेटी की ससुराल वालाें काे सूचना दी, फिर वहां से केवल 5 व्यक्ति काे बुलाकर बेटी की विदाई की। इसके बाद बेटे का अंतिम संस्कार किया गया। जीआरपी के एसआई जसबीर ने बताया कि ट्रेन की चपेट में अाने से युवक की मौत हो गई।

पूरे गांव में शोक की लहर: डोली उठने के बाद ही शव काे गांव में लाए

मृतक संदीप की बहन साेनिया की विदाई हाेने के बाद ही शव काे गांव में लाया गया। इसके बाद उसका संस्कार किया गया। इकलाैते बेटे की माैत से राजकुमार व परिजन पूरी तरह टूट गए। वहीं बहन का राे-राेकर बुरा हाल था। पूरे गांव की आंखों में अांसू छलक रहे थे। किसी ने नहीं सोचा था कि इस तरह का हादसा हो जाएगा। पूरा परिवार शादी लगा था।

इधर, ट्रैक्टर की चपेट में आया पिता, तीन मासूम बच्चियों के सिर से उठा साया

भास्कर न्यूज | समालखा

मनाना गांव के राजकुमार अपनी बेटी साेनिया की शादी का मंढे की तैयार में लगे हुए थे अाैर बेटे संदीप काे सरकंडा लेने के लिए भेज दिया। शुक्रवार काे सुबह 22 साल के संदीप सरकंडा लेने के लिए साइकिल पर डीपीएस के पीछे रेलवे लाइन के पास गया हुअा था। जब संदीप लाइन पार कर रहा ताे दाेनाें अाेर अप व डाउन लाइन पर ट्रेन अा गई। दिल्ली से पानीपत की अाेर जाने वाली ट्रेन ताे संदीप ने देख ली, लेकिन पानीपत से दिल्ली की अाेर जाने वाली ट्रेन की चपेट में अा गया। जिससे उसकी मौत हो गई।

राजकुमार ने बेटी का रिश्ता खेड़ी राठधाना में किया हुअा था। शुक्रवार काे बारात गांव मनाना अानी थी। सुबह घर पर मंढे की तैयारियां चल रही थी। साेनिया का भाई संदीप मंढे बांधना के लिए सरकंडा लेने के लिए चला गया। लेकिन किसे क्या पता था की संदीप वापस घर नहीं लाैटेगा। संदीप की माैत की खबर जब गांव पहुंची ताे पूरे गावं में मातम छा गया। परिजनाें के अनुसार मृतक संदीप हलवाई का काम करता था। डेढ़ साल पहले ही उसकी शादी हुई थी। मृतक संदीप का एक छह महीने का बच्चा है। पिता राजकुमार एक निजी फैक्ट्री में मजूदरी करते हें।

ससुराल से केवल 5 लोगों को बुलाकर किया बेटी
को विदा, बाद में किया बेटा का अंतिम संस्कार


मृतक संदीप

X
Israna News - haryana news the only brother who went to take a reed to tie his sister39s wedding died due to being cut by a train

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना