• Hindi News
  • Haryana
  • Panipat
  • haryana karnal news thousands of people shouted bharat mata slogans in last rites of shaheed baljeet singh
विज्ञापन

शहादत / शहीद के अंतिम दर्शन करने उमड़ी भीड़, भारत माता के जयकारों के बीच अंतिम संस्कार

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2019, 12:50 PM IST


शहीद को श्रद्धांजली देते हुए विधायक हरविंदर कल्याण। शहीद को श्रद्धांजली देते हुए विधायक हरविंदर कल्याण।
संस्कार के लिए लेकर जाते हुए सेना के जवान। संस्कार के लिए लेकर जाते हुए सेना के जवान।
बड़ी संख्या में उमड़ी भीड़। बड़ी संख्या में उमड़ी भीड़।
भारत माता के जयकारों से गूंजा डिंगर माजरा गांव। भारत माता के जयकारों से गूंजा डिंगर माजरा गांव।
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में शहीद हुए बलजीत सिंह। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में शहीद हुए बलजीत सिंह।
X
शहीद को श्रद्धांजली देते हुए विधायक हरविंदर कल्याण।शहीद को श्रद्धांजली देते हुए विधायक हरविंदर कल्याण।
संस्कार के लिए लेकर जाते हुए सेना के जवान।संस्कार के लिए लेकर जाते हुए सेना के जवान।
बड़ी संख्या में उमड़ी भीड़।बड़ी संख्या में उमड़ी भीड़।
भारत माता के जयकारों से गूंजा डिंगर माजरा गांव।भारत माता के जयकारों से गूंजा डिंगर माजरा गांव।
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में शहीद हुए बलजीत सिंह।जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में शहीद हुए बलजीत सिंह।
  • comment

  • जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में शहीद हुए थे करनाल के डिंगर माजरा गांव के बलजीत सिंह

घरौंडा (विवेक राणा). जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में शहीद हुए जवान बलजीत सिंह (35) का पार्थिव शरीर बुधवार को पैतृक गांव डिंगर माजरा पहुंचा। गांव में लोगों ने भारत माता के जयकारों के साथ शहीद के अंतिम दर्शन किए। मंगलवार शाम को ही शहीद का पार्थिव शरीर जम्मू-कश्मीर से हेलीकॉप्टर द्वारा अम्बाला कैंट ले आया गया था। शहीद के अंतिम संस्कार में स्थानीय विधायक हरविंदर कल्याण पहुंचे।  

सोमवार रात 2.30 बजे हुई थी मुठभेड़

  1. शहीद बलजीत सिंह 50 राष्ट्रीय राइफल में हवलदार के पद पर तैनात थे। सोमवार रात 2:30 बजे आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर रत्नीपोरा  इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया गया। आतंकी एक घर व स्कूल में जा छिपे। आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी। 
     

  2. इस दौरान हवलदार बलजीत सिंह ने एक आतंकी को ढेर कर दिया। तभी सामने से आतंकियों की दो गोली बलजीत सिंह को लग गई। दो अन्य जवान भी घायल हो गए। घायल नायक सानीद व हवलदार बलजीत सिंह की अस्पताल में मौत हो गई। वहीं, जवान चंदर पाल को 92 बेस अस्पताल में रेफर किया है।

  3. जनवरी 2002 में हवलदार बलजीत सिंह 2 मैक इनफेंट्री में भर्ती हुआ था व महाराष्ट्र के अहमदनगर में ट्रेनिंग की थी। इसके बाद अपनी अच्छी फिटनेश के चलते हवलदार बलजीत ने एनएसजी कमांडो की ट्रेनिंग पूरी की थी व वर्ष 2015 से वर्ष 2017 तक नई दिल्ली में एनएसजी में वीवीआईपी डयूटी में तैनात रहे। 

  4. इससे पहले भी तीन साल तक हवलदार बलजीत राष्ट्रीय राइफल में पोस्टिंग था। पिछले तीन वर्षों से 50 राष्ट्रीय राइफल में श्रीनगर क्षेत्र में पोस्टिंग था। परिवार में हवलदार बलजीत की पत्नी अरूणा, एक तीन वर्षीय बेटा अरनव, सात वर्षीय बेटी जन्नत, 75 वर्षीय किसान पिता किशनचंद है। शहीद की माता मूर्ति का पहले ही देहांत हो चुका है।

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें