विधानसभा चुनाव  / टिकट कटने से नाराज मराठा वीरेंद्र वर्मा ने छोड़ी कांग्रेस, भाजपा कर सकते हैं ज्वाइन



सीएम मनोहर लाल खट्टर, मराठा वीरेंद्र वर्मा से मुलाकात करते हुए। सीएम मनोहर लाल खट्टर, मराठा वीरेंद्र वर्मा से मुलाकात करते हुए।
X
सीएम मनोहर लाल खट्टर, मराठा वीरेंद्र वर्मा से मुलाकात करते हुए।सीएम मनोहर लाल खट्टर, मराठा वीरेंद्र वर्मा से मुलाकात करते हुए।

  • मराठा से सीेएम मनोहर लाल खट्टर ने की मुलाकात

Dainik Bhaskar

Oct 11, 2019, 07:42 PM IST

करनाल। टिकट बंटवारे के बाद नाराज चल रहे वरिष्ठ कांग्रेस नेता मराठा वीरेंद्र वर्मा ने कांग्रेस को अलविदा कह दिया है। मराठा भाजपा ज्वाइन करेंगे। शुक्रवार को सीएम मनोहर लाल खट्टर ने उनसे मुलाकात की। इसके बाद मराठा ने पार्टी छोड़ने का ऐलान कर दिया। चर्चा है कि पानीपत में होने वाली अमित शाह की रैली में वे भाजपा का दामन थाम सकते हैं। 

 

मराठा ने कांग्रेस पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि हरियाणा विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस पार्टी द्वारा टिकट बंटवारे में उत्तरी हरियाणा की अनदेखी की गई है, इससे खफा होकर कांग्रेस पार्टी से अपना इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने आरोप लगाया कि टिकट बंटवारे में कांग्रेस पार्टी ने उत्तरी हरियाणा के वरिष्ठ नेता वीरेंद्र मराठा और पूर्व मंत्री निर्मल सिंह दोनों का अपनी अपनी जाति में आधार समाप्त करने का प्रयास किया गया है, इसलिए जनमानस में भी कांग्रेस पार्टी के प्रति भारी रोष है। 

 

उन्होंने कहा कि जनता इतनी खफा है कि कांग्रेस के इस रवैये से उत्तरी हरियाणा में कांग्रेस पार्टी का पूर्णतयः सफाया भी हो सकता है। वीरेंद्र मराठा ने आगामी रणनीति व राजनीतिक कदम के लिए 13 अक्तूबर दिन रविवार को अपने कार्यालय में कार्यकर्ताओं की बैठक बुलाई है। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ताओं से विचार विमर्श के बाद ही आगामी फैसला लिया जाएगा। हरियाणा प्रदेश कांग्रेस कमेटी व प्रदेश अध्यक्षा कुमारी शैलजा को इस्तीफा भेज दिया गया है।

 

मराठा वीरेंद्र वर्मा दो बार वर्ष 2009 और 2014 में बहुजन समाज पार्टी से करनाल लोकसभा चुनाव लड़ा है। मराठा एक बार नीलोखेड़ी और दो बार असंध विधानसभा से चुनाव लड़ चुके हैं। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना