दुखों की दास्तां / बलदेव की 11 साल की बेटी बाेली-पाकिस्तान के स्कूलों में हिंदू-सिख बच्चों को मुसलमान बनने काे किया जाता है मजबूर



Hindu-Sikh children are forced to become Muslims in pak
X
Hindu-Sikh children are forced to become Muslims in pak

  • पाक के पूर्व विधायक लगातार 10 घंटे मीडिया के मुखातिब रहे पर पाकिस्तान में हाे रहे जुल्माें की बातें खत्म नहीं हुईं
  • कहा- ननकाना साहिब और करतारपुर कॉरिडोर के लिए सिर कलम के लिए तैयार

Dainik Bhaskar

Sep 11, 2019, 06:54 AM IST

खन्ना. पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों पर जुल्मों के बीच अपनी जान बचाकर परिवार समेत पंजाब के शहर खन्ना अपने ससुराल घर आए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की पार्टी पीटीआई के पूर्व विधायक बलदेव कुमार ने मंगलवार को पाक की नापाक हरकतों की सच्चाई जाहिर कर पूरी दुनिया में आतंकवाद समर्थक इस मुल्क की घिनौनी सोच को बेनकाब किया। पार्षद से लेकर विधायक तक के सफर में अपने दुखों की दास्तां सुनाते भावुक हुए बलदेव ने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान लोगों के सबर का इम्तिहान ले रहे हैं। हालात बयां करते हैं कि ऐसी गतिविधियों और लोगों के टूटते सबर के बांध में पाकिस्तान का काम जल्द ही तमाम होने वाला है।

 

12 अगस्त को तीन महीने के वीजे पर आए बलदेव भारत में शरण और नागरिकता के लिए केंद्र सरकार से आवेदन करेंगे। बलदेव कुमार मंगलवार सुबह से करीब 10 घंटे मीडिया के मुखातिब होते रहे। लेकिन इस दौरान पाकिस्तान की नापाक हरकतों के किस्से खत्म नहीं हुए। उनकी 11 साल की बेटी रीया ने बताया कि वहां स्कूलों में हिंदू व सिख बच्चों को मुसलमान बनने के लिए मजबूर किया जाता है। मना करने पर नीच जाति का बताकर जलील किया जाता है। इन बच्चों की नानी ज्योति ने केंद्र व पंजाब सरकार से गुहार लगाते हुए कहा कि वे उन्हें खन्ना में ही रहने की इजाजत देते हुए भारतीय नागरिकता भी दी जाए।

 

बलदेव के भारत आने के बाद आईबी में मचा था हड़कंप 

बलदेव 12 अगस्त को तीन महीने के वीजा पर भारत आए थे। सूत्र बताते हैं कि इसके कुछ दिन बाद पाकिस्तान से एक जत्था भारत आया था, जिसने ऋषिकेश जाना था। लेकिन इस जत्थे में से एक व्यक्ति, जो बलदेव का जानकार था जो खन्ना रुक गया था। 

 

सिद्धू की बाजवा से जफ्फी को बताया सियासी स्टंट 

पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू द्वारा पाकिस्तान के दौरे दौरान सेना मुखी कमर जावेद बाजवा से जफ्फी डालने के मसले पर बोलते हुए बलदेव ने कहा कि यह सारा सियासी स्टंट किया गया है। सियासतदानों के कारण ही नरक भरा जीवन व्यतीत करते हैं।
 

पाक छोड़ने के बाद व्हाट्सएप से बच्चों की पढ़ाई जारी 

पाकिस्तान छोड़ने के एलान के बाद भी बच्चों की वहां पर पढ़ाई जारी है। बच्चे व्हाट्एप के माध्यम से पढ़ाई कर रहे हैं। टीचर व्हाट्स-अप पर होमवर्क भेजते हैं और बच्चे इसे पूरा करके दोबारा टीचर को भेज देते हैं। ऐसा इसलिए कि पढ़ाई का नुकसान न हो।
 

केंद्रीय मंत्री सोम प्रकाश के माध्यम से दिल्ली उठेगा मुद्दा
बलदेव कुमार को भारत अंदर शरण और नागरिकता का मुद्दा होशियारपुर से सांसद व केंद्रीय मंत्री सोम प्रकाश के माध्यम से दिल्ली उठाया जाएगा। इस मसले को लेकर बुधवार को भारतीय जनता पार्टी युवा मोर्चा के प्रदेश महासचिव अनुज छाहड़िया सोम प्रकाश को मिलेंगे।
 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना