एचएसएससी भर्तियां / तहसीलों के बाहर बढ़ी भीड़, अभ्यर्थियों का खर्चा और परेशानी बढ़ी



बवानी खेड़ा : बवानी खेड़ा तहसील में शपथपत्र तैयार करवाने पहुंचे अभ्यर्थियों की लगी भीड़। बवानी खेड़ा : बवानी खेड़ा तहसील में शपथपत्र तैयार करवाने पहुंचे अभ्यर्थियों की लगी भीड़।
X
बवानी खेड़ा : बवानी खेड़ा तहसील में शपथपत्र तैयार करवाने पहुंचे अभ्यर्थियों की लगी भीड़।बवानी खेड़ा : बवानी खेड़ा तहसील में शपथपत्र तैयार करवाने पहुंचे अभ्यर्थियों की लगी भीड़।

  • इलाका मजिस्ट्रेट से बने शपथ पत्र से मिलेंगे परिवार में किसी के नौकरी नहीं होने के पांच अंक
  • आवेदन करने के लिए 15 दिन से ज्यादा समय नहीं, पहले अभ्यर्थी खुद हस्ताक्षर कर देता था शपथ पत्र

Dainik Bhaskar

Jun 19, 2019, 05:07 PM IST

पानीपत ( मनोज कुमार ). प्रदेश में हरियाणा स्टाफ सिलेक्शन कमीशन (एचएसएससी) की ओर से हाल ही में निकाली गई भर्तियों में जोड़े नियमों ने अभ्यर्थियों की परेशानी बढ़ा दी है। यह परेशान उन अभ्यर्थियों की बढ़ी है, जिनके घरों में कोई भी नौकरी में नहीं है और वे सरकार की ओर से भर्ती में सामाजिक आर्थिक आधार पर दिए जाने वाले अंक लेना चाहते हैं। पहले अभ्यर्थी खुद ही शपथ पत्र पर हस्ताक्षर करके यह सबूत देता था कि उसके घर में कोई नौकरी में नहीं है, लेकिन अब इलाके के मजिस्ट्रेट से बनवाया गया शपथ पत्र अनिवार्य कर दिया है।

 

 

इस समय प्रदेश में करीब 10 हजार भर्तियां निकली हुई हैं। इनमें आवेदन का समय भी 15 दिन से ज्यादा नहीं है। शपथ पत्र बनवाने वालों की तहसीलों में भीड़ उमड़ रही है। इसके साथ अभ्यर्थियों का खर्चा भी बढ़ गया है। 50 रुपए उन्हें शपथ पत्र पर खर्च करने होंगे। वहीं गांव से तहसील मुख्यालय तक आने जाने का किराया भी लग रहा है। फिलहाल ग्राम सचिव, जूनियर इंजीनियर, कैनाल पटवारी और पुलिस महकमे में करीब दस हजार पदों पर भर्तियां निकली हुई हैं, जिनके लिए लाखों की संख्या में आवेदन होना तय है।

 

तहसीलों में भीड़, हंगामे शुरू:

भर्तियों में आवेदन का समय कम होने की वजह से सरल केंद्रों के साथ तहसीलदार कार्यालयों में खूब भीड़ हो गई है। कुछ जगह हंगामे भी हुए हैं। बवानी खेड़ा में तो पुलिस तक बुलानी पड़ी है। भीड़ भी तीन जगह लगी हुई है। पहले युवा शपथ पत्र बनवाने के लिए टाइपिस्ट के पास जाते हैं। इसके बाद शपथ पत्र पर फोटो लगाई जाती है, जहां अभ्यर्थी की मौजूदगी अनिवार्य है। इसके बाद तहसीलदार कार्यालय में तहसीलदार के इस पर हस्ताक्षर होते हैं।
 

अभ्यर्थियों को हर भर्ती के लिए बनवाना होगा अलग शपथ पत्र :

बेरोजगारों के लिए परेशानी की बात यह भी है कि वे जितनी भर्तियों में आवेदन करेंगे, उनमें अलग-अलग शपथ पत्र देने होंगे। इस समय प्रदेश में पुलिस में कांस्टेबल, सब इंस्पेक्टर के अलावा ग्राम सचिव, विभिन्न विभागों में पटवारियों की भर्ती के लिए आवेदन मांगे हुए हैं। यदि तीन भर्तियों के लिए ऐसा अभ्यर्थी आवेदन करता है, जिनके घर में कोई नौकरी में नहीं है तो उसे तीन शपथ पत्र बनवाने होंगे। क्योंकि शपथ पत्र में भर्ती के विज्ञापन नंबर भी दर्ज करना अनिवार्य किया है।

 

अब साइबर कैफे का नाम और मोबाइल :

भर्तियों में आवेदन करने वालों के लिए एक नियम और बनाया है। यदि कोई अभ्यर्थी अपने कंप्यूटर या लैपटॉप से आवेदन करता है तो उसे कॉलम में यह बताना होता है। यदि किसी साइबर कैफे से आवेदन करता है तो ऑप्शन में साइबर कैफे का नाम, संचालक के मोबाइल नंबर आदि की डिटेल भी देनी होगी। जोकि उसके प्रिंट निकाले गए फॉर्म पर भी दर्ज होगी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना