हरियाणा / अब नेपाल में होने वाली दक्षिण एशियाई तीरंदाजी में भागीदारी नहीं कर सकेंगे भारतीय तीरंदाज



प्रतीकात्मक फोटो। प्रतीकात्मक फोटो।
X
प्रतीकात्मक फोटो।प्रतीकात्मक फोटो।

  • दक्षिण एशियाई तीरंदाजी संघ ने भारत को बाहर कर ओलंपिक संघ को भेजी सूचना

Dainik Bhaskar

Nov 20, 2019, 04:20 AM IST

सोनीपत. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा की चमक बिखेरने को तैयार रहने वाले खिलाड़ी एक बार फिर राजनीति के शिकार बने हैं। इस बार गाज देश के तीरंदाजों पर पड़ी है। इसके तहत नेपाल में होने वाली दक्षिण एशियाई तीरंदाजी चैंपियनशिप में भारतीय खिलाड़ी हिस्सा नहीं ले सकेंगे।

 

इसका कारण विश्व तीरंदाजी संघ की ओर से भारतीय तीरंदाजी संघ को निलंबित किया जाना है। इस बाबत निर्णय लेकर भारतीय तीरंदाजी संघ एवं भारतीय ओलंपिक संघ को सूचित भी कर दिया गया है, हालांकि इस खबर से खिलाड़ी अनजान हैं। साउथ एशियन तीरंदाजी फेडरेशन की ओर से इस बाबत ढाका में आयाेजित बैठक में फैसला लिया।

 

भारतीय खिलाड़ियों का इस प्रतियोगिता के लिए अभ्यास शिविर 22 नवंबर से 3 दिसंबर तक आयोजित किया जाना है, जिसके लिए 2 प्रशिक्षकों की ड्यूटी भी लगाई गई है। विश्व तीरंदाजी की ओर से भारतीय तीरंदाजी संघ (एएआई) को अपने दिशानिर्देशों का पालन नहीं करने के लिए निलंबित कर दिया था।

 

इसके बाद भारतीय खिलाड़ियों को भारतीय ध्वज के बिना ही खेलने को विवश होना पड़ रहा है, लेकिन अब निराशा इससे बढ़कर यह है कि भारतीय खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भाग भी नहीं ले सकेंगे। इसका बड़ा नुकसान यह है कि अगर खिलाड़ी यहां ओलंपिक कोटा हासिल करता है तो भी उसे विश्व तीरंदाजी में गिना जाता है, जिसका खामियाजा हाल ही में पैरा तीरंदाज विवेक ने तब भुगता जब ओलंपिक कोटा हासिल करने के बाद भी उस कोटे की गिनती भारतीय कोटे के रूप में नहीं की गई।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना