कार्रवाई / चेकिंग के नाम पर रिश्वत मांगने वाले इंस्पेक्टर, ईटीओ सहित तीन सस्पेंड

karnal news excise and taxation department 3 employee suspend in bribe case
X
karnal news excise and taxation department 3 employee suspend in bribe case

  • आबकारी एवं कराधान टीम लगातार चेकिंग के नाम पर कर रही भ्रष्टाचार
     

दैनिक भास्कर

Sep 07, 2019, 02:17 PM IST

करनाल। आबकारी एवं कराधान विभाग (सेल्स) चेकिंग टीम का एक बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है। चालान न करके गाड़ी छोड़ने के नाम सरेआम पैसे मांगते थे। दलाल सक्रिय हैं और चालान से बचाने के लिए पैसे की डिमांड करते थे। स्थानीय तौर पर भेजी गई रिपोर्ट पर मुख्यालय की तरफ से तुरंत प्रभाव से इंस्पेक्टर सतीश गुप्ता, ईटीओ प्रशांत कादयान, ड्राइवर ओम सिंह को सस्पेंड कर दिया गया है।

रिकॉर्डिंग सामने आई तो शुरू हुई कार्रवाई

दो अधिकारियों की रिकॉर्डिंग सामने आने पर पूरे विभाग की कार्यप्रणाली संदेह के घेरे में है। प्राथमिक तौर पर डीईटीसी सेल्स आनंद सिंह ने रिकॉर्डिंग के बाद तीन कर्मचारियों को सस्पेंड करने की सिफारिश को स्वीकार करके कार्रवाई शुरू कर दी है। 

विभाग की निष्पक्ष जांच में और भी स्टाफ फंस सकता है। चेकिंग के नाम पर व्यापारी भी इस तरह के आरोप लगातार लगा रहे हैं। व्यापारियों की मांग है कि इनकी संपत्ति की जांच होनी चाहिए।

गुरुवार को रिकॉर्डिंग सामने आई कि सेल्स टैक्स विभाग के अधिकारी एक व्यापारी से बातचीत कर रहा है। उसमें बोल रहे हैं कि उसने दो गाड़ी पकड़ी हैं। वह दोनों का चालान कर सकता है, लेकिन इसमें तय होता है कि एक गाड़ी को छोड़ दो। वह स्वयं आकर मिलेगा और हिसाब कर दिया जाएगा। अधिकारी कहता है कि पहले एक दलाल आ गया था। 

आपने तीन लाख बीस हजार रुपए दिए, लेकिन इस रिश्वत में 80 हजार रुपए की गड़बड़ दलाल कर गया है। इसलिए दलालों के चक्कर में नहीं आना और वह स्वयं आकर मिले। रिकॉर्डिंग भले ही पुरानी हो सकती, लेकिन सीएम सिटी में भ्रष्टाचार का एक बड़ा मामला सामने आया है। चेकिंग के नाम पर इस तरह घोटाला अक्सर टीम के सदस्य करते हैं।

टीम को गाइड किया है कि जो गड़बड़ करेगा वही फंसेगा 
आनंद सिंह, डीईटीसी

  • Q. भ्रष्टाचार का मामला साफ नजर आ रहा है, क्या कार्रवाई की गई।
  • A. इंस्पेक्टर सतीश गुप्ता, ईटीओ प्रशांत कादयान, ड्राइवर ओम सिंह को मुख्यालय की तरफ से सस्पेंड कर दिया है।
  • Q. चेकिंग टीम की इससे पहले भी भ्रष्टाचार करने संबंधित शिकायत आई है।
  • A. चेकिंग टीम को पहले ही गाइड किया हुआ है कि जो गड़बड़ करेगा, वही फंसेगा। भ्रष्टाचार के बिल्कुल खिलाफ हूं।
  • Q. आगे टीम को किस नीति पर कार्य करने की सलाह देते हैं।
  • A. पहले की तरह सख्त निर्देश हैं कि भ्रष्टाचार मुक्त कार्य करना होगा। सरकार का रेवेन्यू बढ़ाने के लिए कार्य कर रहे हैं, उसी पर फोकस होना चाहिए।
     

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना