हरियाणा / भाजपा-कांग्रेस समेत सभी दलों के पास विधानसभा चुनाव में रूठों को मनाने का आज अंतिम मौका



नारायणगढ़ से निर्दलीय उतरे राकेश बिंदल को सीएम ने मना लिया। नारायणगढ़ से निर्दलीय उतरे राकेश बिंदल को सीएम ने मना लिया।
X
नारायणगढ़ से निर्दलीय उतरे राकेश बिंदल को सीएम ने मना लिया।नारायणगढ़ से निर्दलीय उतरे राकेश बिंदल को सीएम ने मना लिया।

  • आज नामांकन वापस लेने की आखिरी तारीख, दोपहर 3 बजे के बाद प्रक्रिया खत्म होगी
  • भाजपा तीन दिन विशेष अभियान चला रही, कांग्रेस दे रही विचारधारा की दुहाई

Dainik Bhaskar

Oct 07, 2019, 11:39 AM IST

पानीपत. हरिणाया विधानसभा चुनाव के लिए सोमवार को नामांकन वापसी का आखिरी दिन है। रूठों को चुनाव न लड़ने के लिए मनाने का पार्टियों के पास सीमित मौका है। सभी पार्टियाें के वरिष्ठ नेता अपने बागियों को मनाने में लग गए हैं। दूसरी पार्टियों के बागियों को अपने पाले में लाने के लिए भी जोड़-तोड़ कर रहे हैं। भाजपा 3 दिन इसके लिए विशेष अभियान चला रही है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि वे बागी विधायकों को मनाकर नामांकन वापसी का पूरा प्रयास करेंगे।

 

वहीं, कांग्रेस का कहना है कि पार्टी की विचारधारा में यकीन रखने वाले लोग कहीं नहीं जाएंगे। बाकी भी लौट आएंगे। रविवार को इनेलो ने अम्बाला जिले की 4 सीटों को लेकर पूर्व मंत्री निर्मल सिंह से समझौता कर लिया। वहीं, नारायणगढ़ से निर्दलीय नामांकन करने वाले भाजपा के बागी राकेश बिंदल मान गए हैं। उधर, जींद में तंवर के कई समर्थकों ने पदों से इस्तीफा दे दिया है।

 

ऐसे-ऐसे लुभावने वादे

  • हठ छोड़ो, अगली बार टिकट पक्का
  • विधायकी क्या है, संगठन में बड़ा पद
  • विद्रोह त्यागो, आने वाला वक्त तुम्हारा

 

मनाने के लिए क्या-क्या कहा गया

बहादुरगढ़ में निर्दलीय उतरे कांग्रेस के राजेश जून के बारे में रविवार को दीपेंद्र हुड्‌डा ने कहा कि आने वाला समय उनका है। राजेश ने कहा कि सोमवार दोपहर तक पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा अगली बार टिकट का आश्वासन दें तो साथ देने को तैयार हूं। गन्नौर से भाजपा में टिकट के दावेदार देवेंद्र कादियान ने 4 अक्टूबर को कहा था कि मुझे कहा गया है कि विधायक बनकर क्या करोगे, इससे भी बड़ा पद देंगे, अपने हलके की समस्याएं निपटाते रहना। करनाल से निर्दलीय उम्मीदवार ईश्वर सिंह को पार्टी में शामिल करने और सम्मान की शर्त पर नामांकन वापसी के लिए मना लिया।
 

भाजपा का 3 पार्टियों को झटका

गुहला से कांग्रेस के पूर्व विधायक फूलसिंह, हिसार के बरवाला से पूर्व इनेलो विधायक वेदपाल नारंग, बादली से 5 बार विधायक रहे धीरपाल के 2 भतीजे भाजपा में शामिल। 2014 में पिहोवा से भाजपा से लड़े जय भगवान की घर वापसी। वे लाेकसभा में जजपा के टिकट पर कुरुक्षेत्र से लड़े थे। कांग्रेस के पूर्व विधायक संपत्त सिंह ने सीएम से मुलाकात की है। सोमवार को फैसला लेंगे।

 

ऐसा समझौता पहली बार
कांग्रेस के बागी निर्मल अम्बाला सिटी और बेटी चित्रा कैंट से निर्दलीय उतरी हैं। इनेलो इन सीटों पर निर्मल को समर्थन देगी। सिटी में इनेलो का प्रत्याशी नहीं है। कैंट से इनेलो के ओंकार पर्चा वापस लेंगे। बदले में निर्मल नारायणगढ़ व मुलाना में इनेलो का साथ देंगे। उल्लेखनीय है कि इनेलो के साथ शिअद का गठबंधन भी है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना