--Advertisement--

लापरवाही / बच्चे को कंपाउडर ने लगाया था टीका, हाथ काला पड़ा तो पट्‌टी बांध कर भेज दिया घर, आई काटने नौबत



Negligence in treatment of child in hospital
X
Negligence in treatment of child in hospital

  • परिजनों ने पट्टी खोली तो हाथ काला पड़ा  
  • 3 दिन बाद हंगामा हुआ तो अस्पताल ने मानी गलती

 

Dainik Bhaskar

Dec 08, 2018, 04:25 AM IST

पानीपत. सनौली रोड पर हैदराबादी अस्पताल में 10 माह के बच्चे के हाथ में एक कंपाउंडर के इंजेक्शन लगाने के बाद हाथ में इंफेक्शन फैल गया। अब दूध मुंहे बच्चे का हाथ काटने की नौबत आ गई है। अस्पताल के डॉक्टरों ने गलती छुपाने के लिए उसके हाथ पर पट्टी बांध कर छुट्टी कर दी और कहा कि 3 दिन तक नहीं खोलना।

 

परिजनों ने पट्टी खोली तो हाथ काला पड़ गया था। 3 दिन तक डॉक्टरों ने गलती नहीं मानी। शुक्रवार को परिजनों ने 4 घंटे तक हंगामा किया तो डॉक्टरों ने गलती मानी और बच्चे को बेहतर इलाज के लिए प्रेम अस्पताल में भर्ती करा पूरा खर्च उठाने की बात कही, लेकिन हैदराबादी अस्पताल की ओर से बच्चे के परिजनों को लिखित तौर पर कुछ भी आश्वासन नहीं दिया है।  

 

पीजीआई ने कहा- बच्चे को गलत इंजेक्शन लगाया :
पसीना खुर्द निवासी पिता सोनू ने बताया कि बच्चे को 29 नवंबर को बुखार आने पर भर्ती कराया था। काला हाथ वे तुरंत हैदराबादी अस्पताल गए। डाॅक्टरों ने रोहतक पीजीआई जाने को कहा। 6 दिसंबर की रात रोहतक पीजीआई पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने कहा- इसे गलत इंजेक्शन लगाया है। इससे हाथ की नस ब्लॉक हो गई। बच्चे का हाथ काटना पड़ेगा। इधर, हैदराबादी अस्पताल के सीनियर डॉ. अशोक ने कहा कि अस्पताल प्रबंधन बच्चे का पूरा खर्च उठाएगा।

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..