पानीपत / नगर निगम में 2.85 लाख का प्रॉपर्टी टैक्स 60 हजार रुपये में निपटाने वाला क्लर्क सस्पेंड

पानीपत नगर निगम मेयर अवनीत कौर की शिकायत पर हुई कार्रवाई। पानीपत नगर निगम मेयर अवनीत कौर की शिकायत पर हुई कार्रवाई।
X
पानीपत नगर निगम मेयर अवनीत कौर की शिकायत पर हुई कार्रवाई।पानीपत नगर निगम मेयर अवनीत कौर की शिकायत पर हुई कार्रवाई।

  • इस मामले में लिप्त डीसी रेट के दोनों कर्मचारी भी नौकरी से हटाए गए
  • कमिश्नर ने विभागीय जांच के लिए संयुक्त कमिश्नर के नेतृत्व में बनाई कमेटी

दैनिक भास्कर

Feb 12, 2020, 06:57 PM IST

पानीपत। 2.85 लाख रुपये का प्रॉपर्टी टैक्स को 60 हजार रुपये में ही निपटाने वाले पानीपत नगर निगम के क्लर्क जोगिंद्र को सस्पेंड कर दिया गया है। वहीं, इसमें लिप्त पाए गए डीसी रेट के दो कर्मचारियों चौकीदार अमित और टैक्स शाखा में काम करने वाली शीतल को नौकरी से हटा दिया गया है। निगम कमिश्नर ओम प्रकाश ने बुधवार को यह कार्रवाई की। साथ ही विभागीय जांच के लिए संयुक्त कमिश्नर के नेतृत्व में जांच कमेटी बनाई है। इसके साथ ही प्रॉपर्टी टैक्स शाखा का पूरा स्टाफ बदलने की तैयारी की जा रही है।

6 फरवरी को मेयर अवनीत कौर ने प्रॉपर्टी टैक्स में भ्रष्टाचार का एक मामला उठाया था। कमीशन को लेकर दो दलालों के बीच झगड़े के बाद मामला खुला था। सर्वर कॉलोनी में एक व्यक्ति को पहले 2.85 लाख रुपये का प्रॉपर्टी टैक्स भेजा गया था। मेयर ने खुलासा किया था कि एक दलाल ने 2 लाख में ठीक करने की बात कही तो वहीं दूसरे ने 1.50 लाख रुपये लेकर ठीक करवा दिए। क्लर्क जोगिंद्र ने 60 हजार रुपये में ही बिल निपटा दिया।

कमेटी की जांच में दोषी पाया गया क्लर्क तो बर्खास्त होगा 
कमिश्नर ने संयुक्त कमिश्नर गौरव कुमार के नेतृत्व में जांच कमेटी बनाई है। जो 15 दिनों में अपनी रिपोर्ट देगी। इस कमेटी में कार्यकारी ईओ एवं एक्सईएन राहुल पुनिया व टैक्स ब्रांच के सुपरिंटेडेंट अजय को शामिल किया गया है। कमेटी की रिपोर्ट में अगर क्लर्क योगिंद्र को दोषी ठहराया गया तो फिर उसे नौकरी से बर्खास्त करने के लिए सरकार को लिखा जाएगा।

भ्रष्टाचार के 2 और मामले सामने आए, अब पूरा स्टाफ बदलने की तैयारी 
प्रॉपर्टी टैक्स ब्रांच में भ्रष्टाचार के 2 मामले और सामने आ गए हैं। इनमें पहले केस में मॉडल टाउन निवासी जितेन कटारिया का बिल 2.54 लाख से घटाकर 46 हजार रुपये कर दिया गया। वहीं, कटारिया एस्टेट के बिल को भी 88 हजार के बिल का घटाकर 7080 रुपये कर दिया गया है। कमिश्नर ओम प्रकाश शर्मा ने बताया कि इन दोनों मामलों से संबंधित शिकायत उनके पास पहुंच गई है। इसकी भी जांच होगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना