पानीपत / पूर्व सरपंचों के लिए तय हो सकती है 2000 मासिक पेंशन



मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्‌टर (फाइल फोटो) मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्‌टर (फाइल फोटो)
X
मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्‌टर (फाइल फोटो)मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्‌टर (फाइल फोटो)

  • पंचायत राज विभाग ने सरकार के पास भेजा प्रस्ताव, कैबिनेट मीटिंग या बजट सत्र में हो सकती है घोषणा 
  • पूर्व सरपंच कॉमन सर्विस सेंटरों के जरिए कर रहे ऑनलाइन आवेदन

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2019, 03:27 AM IST

पानीपत (मनोज कुमार). प्रदेश में किसानों को पेंशन देने के लिए कमेटी बना चुकी सरकार ने पूर्व सरपंचों को भी पेंशन देने की योजना पर काम शुरू कर दिया है। पूर्व सरपंचों से तो ऑनलाइन आवेदन मांग ही लिए गए हैं। साथ ही पंचायत विभाग से भी सरकार ने बजट आदि का प्रस्ताव मांगा है। 

 

सूत्रों का कहना है कि विभाग की ओर से सरकार को पूर्व सरपंचों को हर महीने दो हजार रुपए पेंशन देने का प्रस्ताव भेजा गया है। यदि सरकार ने इस प्रस्ताव पर मुहर लगाई तो पूर्व सरपंचों की भी दो हजार रुपए मासिक पेंशन मिलने लगेगी। बताया गया है कि इस प्रस्ताव की घोषणा कैबिनेट की मीटिंग या 20 फरवरी से शुरू हो रहे बजट सत्र में हो सकती है। सरकार पंचायती राज विभाग से मिले प्रस्ताव पर मंथन कर रही है। सरकार किसानों को भी पेंशन देने के लिए कमेटी गठित कर चुकी है, जो इसका ड्राफ्ट बना रही है। 

 

विभाग के एक सीनियर अधिकारी ने बताया कि दो हजार रुपए मासिक पेंशन का प्रस्ताव सरकार पर जा चुका है। अब सरकार तय करेगी कि पेंशन दो हजार ही देनी है या कम-ज्यादा दी जाएगी। जैसे ही पेंशन के निर्देश मिलेंगे, कार्यवाही आगे बढ़ा दी जाएगी। पूर्व सरपंचों से ऑन लाइन आवेदन लिए जा रहे हैं। ये पूर्व सरपंच कॉमन सर्विस सेंटरों के जरिए ऑन लाइन आवेदन कर रहे हैं। जिसमें सरपंचों से उनके नाम से लेकर शपथ की तारीख, किस योजना में बने, कब तक रहे, गांव का नाम आदि पूरी जानकारी ली जा रही है। अभी ऑन लाइन आवेदन की कोई आखिरी तारीख आदि भी तय नहीं है। 

 

बर्खास्त हुए पूर्व सरपंचों पर अभी असमंजस :
सरपंच बनने के बाद बर्खास्त किए गए या किसी वजह से डिसक्वालिफाई किए पूर्व सरपंचों को पेंशन देने को लेकर अभी विचार किया जा रहा है। सूत्रों का कहना है कि इन पूर्व सरपंचों को पेंशन स्कीम से बाहर भी रखा जा सकता है। हालांकि आखिरी फैसला सरकार को लेना है। 
 

COMMENT