केएमपी एक्सप्रेस-वे / इमरजेंसी हेल्पलाइन पर आ रहीं कॉल में 90% मांग रहे पेट्रोल-डीजल और पूछते हैं रास्ता



People seeking Petrol-Diesel on KMP Expressway Emergency Helpline
X
People seeking Petrol-Diesel on KMP Expressway Emergency Helpline

  • एंबुलेंस को दुर्घटना की सूचना देने के लिए है हेल्पलाइन, पर पेट्रोल पंप न होने के कारण मांग रहे मदद
  • दुर्घटना की शिकायत जनवरी माह में 10 और फरवरी में केवल एक आई

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2019, 05:26 AM IST

बहादुरगढ़ (आशीष गुप्ता).  हेलो साहब... मैं केएमपी पर खड़ा हूं, मेरी गाड़ी का पेट्रोल खत्म हो चुका है, रास्ते में अंधेरा है... इसलिए जल्दी मदद करो। इस कट पर ऊपर से उतरना है या फिर नीचे से... प्लीज बता दें। 83 किमी लंबे कुंडली मानेसर पलवल (केएमपी) एक्सप्रेस-वे की इमरजेंसी हेल्पलाइन 1033 पर आजकल एंबुलेंस को दुर्घटना की सूचना देने के बजाय इस तरह की ही कॉल आ रही हैं।

 

 

रोजाना ऐसी 10 कॉल आती हैं, जिनमें से 90% पर वाहन चालक पेट्रोल-डीजल की मदद मांगते हैं या फिर रास्ता पूछते हैं। दुर्घटना की शिकायत जनवरी माह में 10 और फरवरी में केवल एक आई। कंट्रोल रूम की टीम भी नहीं समझ पा रही कि कैसे मदद करे। 19 नवंबर को पीएम ने एक्सप्रेस-वे का उद्‌घाटन किया था।

 

‘मोबाइल फ्यूल’ पर अमल नहीं : एचएसआईआईडीसी ने नवंबर माह में मोबाइल फ्यूल फिलिंग सुविधा शुरू करने का फैसला लिया था। फोन कॉल पर 15 मिनट में डीजल-पेट्रोल व सीएनजी देने की योजना थी। पर अमल नहीं हो पाया।

 

ठेकेदारों ने काम रोक रखा : एचएसआईआईडीसी के अफसरों की माने तो पंप लगने में अभी करीब दो माह का समय लग जाएगा। इसके पीछे कारण है कि अभी ठेकेदारों ने मार्ग पर काम बंद किया हुआ है।

 

मार्ग निकासी के साथ भी नहीं लगता कोई पंप : एक्सप्रेस-वे पर कुंडली से चलकर खरखौदा के पिपली, बहादुरगढ़ में आसौदा, बादली, सुल्तानपुर, मानेसर आदि क्षेत्रों में निकासी व्यवस्था है। इनके आसपास भी कोई पेट्रोल पंप नहीं है।

 

बार-बार समझाने के बाद भी वाहन चालक सुरक्षा का हवाला देकर सहायता की गुहार लगाते हैं। जहां तक संभव हो हम सहायता करते भी हैं, लेकिन पेट्रोल-डीजल की सहायता कैसे करें, यह समझ में नहीं आ रहा। - डाॅ. महीपाल, एचएसआईआईडीसी के हेल्पलाइन नंबर पर तैनात डाॅक्टर  


 

दो माह में मानेसर से लेकर कुंडली तक पंप लगाने की योजना है। अभी तक यहां पेट्रोल पंप नहीं है। ऐसे में यहां तेल खत्म होने के बाद दिक्कत हो रही है। जल्द ही रोड के दोनों ओर 4 पट्रोल पंप लगाए जाएंगे। - सुरेंद्र देसवाल, सीनियन मैनेजर, एचएसआईआईडीसी


 

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना