हरियाणा रोडवेज / कर्मचारियों के लिए बातचीत के दरवाजे खुले, लेकिन अब हड़तालियों को नो काम-नो वेतनः पंवार



परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार। परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार।
X
परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार।परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार।

  • गोहाना पहुंचे परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार ने दिया बयान, 
     

Dainik Bhaskar

Oct 31, 2018, 07:21 PM IST

गोहाना (सोनीपत)। हरियाणा सरकार द्वारा 720 प्राइवेट बसों को परमिट दिए जाने के विरोध में हड़ताल कर रहे रोडवेज कर्मचारियों पर बोलते हुए परिवहन मंत्री कृष्ण लाल पंवार ने कहा कि उन्होंने त्योहारी सीजन में नो काम नो वेतन का फैसला लिया है। कर्मचारियों के लिए बातचीत के दरवाजे हमेशा खुले हैं। 

 

 

कर्मचारियों को यदि परमिट देने की प्रक्रिया को लेकर कोई संदेह है तो सरकार विजिलेंस के सेवानिवृत जज से जांच कराने को तैयार है। जांच होने तक कोई भी बस नहीं चलाई जाएगी। अन्य 190 बसों को परमिट जारी करने की प्रक्रिया भी आगे नहीं बढ़ेगी। आश्वासन के बावजूद भी कर्मचारी वापस ड्यूटी पर जाने को तैयार नहीं है। 

 

 

उन्होंने कहा कि रोडवेज बेड़े में 667 नई बसें शामिल की जा चुकी हैं। वहीं इस वर्ष करीब 650 नई बसें खरीदी जाएंगी। इसके लिए सीएम से मंजूरी मिल चुकी है। इन बसों के शामिल होने के बाद भी रोडवेज सभी लोगों की मांग पूरी नहीं कर सकता। मौजूदा समय में 33 लाख लोगों के लिए रोडवेज बेडे में बसों की जरूरत है, लेकिन 10 से 11 लाख लोगों को ही रोडवेज सुविधा उपलब्ध करा पा रहा है। 

 

 

विभाग के पास इतना बजट नहीं है कि अधिक बसें खरीद सकें। इसलिए 700 बसों को किलोमीटर आधार पर चलाने का निर्णय लिया है। उन्होंने बताया कि रोडवेज बस चलाने पर 49 से 51 रुपए प्रति किलोमीटर खर्च आता है। वहीं योजना के अंतर्गत प्राइवेट एजेंसी 31 ले 35 रुपए प्रति किलोमीटर के आधार पर बस चलाएगी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना