विधानसभा चुनाव / प्रदेश में जागरूकता के लिए प्रति मतदाता 1.64 रुपए किए जाएंगे खर्च, मोर की तस्वीर से कराएंगे मतदान करने पर गर्व



Rs 1.64 will be spent per voter for awareness in the state
X
Rs 1.64 will be spent per voter for awareness in the state

  • 1.81 मतदाताओं के लिए राज्य चुनाव आयोग ने तय किया 3 करोड़ का बजट
  • ज्यादा से ज्यादा मतदाता, मतदान केंद्र तक पहुंचे, इसके लिए बाकायदा एक-एक मतदाता तक पहुंचने की योजना बनाई जा रही है

Dainik Bhaskar

Sep 13, 2019, 06:49 AM IST

पानीपत ( मनोज कुमार ). राज्य में पहले चुनाव के बाद 13वीं विधानसभा के लिए 2014 के चुनाव के दरमियान हुए मतदान का रिकॉर्ड तोड़ने के लिए हरियाणा चुनाव आयोग ने भी अपनी कसरत शुरू कर दी है। ज्यादा से ज्यादा मतदाता, मतदान केंद्र तक पहुंचे, इसके लिए बाकायदा एक-एक मतदाता तक पहुंचने की योजना बनाई जा रही है। उनमें जागरूकता लाने के उद्देश्य से किए जाने वाले प्रयासों के लिए आयोग की ओर से प्रति वोट 1.64 रुपए का बजट रखा है। यानि एक करोड़ 81 लाख 91 हजार 228 मतदाताओं के लिए कुल बजट तीन करोड़ है, जोकि लोकसभा चुनाव में जागरुकता के लिए निर्धारित किए गए 1.16 करोड़ रुपए ज्यादा है।

 

लोगों में जागरुकता के लिए इस बार विशेष लोगों भी जारी किया गया है, जिसमें एक तरफ इलेक्शन कमीशन ऑफ इंडिया का लोगो है, जबकि दूसरी तरफ मोर की फोटो है। मोर की तस्वीर इसलिए चुनी गई है, क्योंकि वह खुशी और गर्व का प्रतीक है। हर मतदाता को चुनाव महोत्सव की तरह मनाने के साथ खुशी और गर्व होना चाहिए। सभी उपायुक्तों के लिए बजट तय किया है। हर जिले में जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। गांवों तक में रैलियां निकाली जाएंगी। 

 

इस बार यह होगा नया
 

  • कुछ मतदान केंद्रों में लाइन में नहीं लगना पड़ेगा। मतदाताओं को टोकन दिए जाएंगे। उनके बैठने की व्यवस्था होगी। टोकन अनुसार एक-एक मतदाता बूथ में जाकर वोट करेगा।
  • कुछ मतदान केंद्रों के लिए एक एप बनाया जाएगा। मतदाता देख सकेगा कि उसके केंद्र पर कितनी लंबी लाइन है।
  • आयोग कुछ मॉडल बूथ बनाएगा। ऐसे बूथों को विशेष रूप से सजाया जाएगा। वहां मतदाताओं के लिए विशेष व्यवस्था होगा। बूथ दूर से अलग नजर आएगा।

 

2014 में टूटा था पहले चुनाव का रिकॉर्ड 

हरियाणा में 1967 में पहला चुनाव हुआ। उस वक्त हुए मतदान का रिकॉर्ड 2014 में टूटा। 1967 में प्रदेश में 72.65 फीसदी मतदान हुआ था। इसके बाद 2014 में ही इससे ज्यादा 76.13 फीसदी मतदान हुआ।

 

लोगों को बूथों तक लाने के लिए पूरे प्रयास होंगे। मतदाताओं को वोट के प्रति जागरुक किया जाएगा। ताकि वे इस चुनावी महोत्सव में शामिल हो सकें। इस पर तीन करोड़ रुपए का बजट रखा है।- अनुराग अग्रवाल, मुख्य निर्वाचन अधिकारी, हरियाणा।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना