पानीपत / पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप में यमुनानगर और पंचकूला में हुआ 88 लाख का घोटाला



Scam in Post Metric Scholarship
X
Scam in Post Metric Scholarship

  • विजिलेंस ने मुख्य सचिव को भेजी रिपोर्ट, दर्ज होगी एफआईआर
  • एक डिप्टी डायरेक्टर समेत 4 कर्मचारियों के अलावा सात प्राइवेट लोग हैं शामिल

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 06:01 AM IST

पानीपत ( मनोज कुमार ). प्रदेश में पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप घोटाले की में लगाकार नए खुलासे हो रहे हैं। अब यमुनानगर और पंचकूला में 88 लाख का घोटाला सामने आया है। जिसमें स्टेट विजिलेंस ब्यूरो की ओर से मुख्य सचिव को इन दो जिलों की रिपोर्ट भेजकर एफआईआर दर्ज के लिए अनुमति दिए जाने के लिए चिट्‌ठी लिखने के बाद उन्होंने स्वीकृति दे दी है।

 

इन मामलों में भी अनुसूचित जाति एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग के एक डिप्टी डायरेक्टर समेत चार कर्मचारियों के अलावा सात प्राइवेट लोग शामिल है। यमुनानगर में तो एक एनजीअो ने सिलाई सिखाने के लिए कुछ लड़कियों के दस्तावेज लेकर चूरू के एक विश्वविद्यालय में दाखिला दिखाकर सरकार से लाखों रुपए स्कॉलरशिप के हड़प लिए। 

 

रिपोर्ट के अनुसार विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार ने भी जांच के दौरान विजिलेंस को इन लड़कियों के एक साल पढ़ने की रिपोर्ट दी लेकिन जब विजिलेंस ने एक-एक कर इन लड़कियों से बात की तो खुलासा हुआ कि वे तो कभी वहां गई ही नहीं। ऐसे में अब इस मामले में विजिलेंस की ओर से जल्द ही एफआईआर दर्ज की जाएगी।

 

विजिलेंस ने अपनी रिपोर्ट में विभाग के चार अधिकारी-कर्मचारी के साथ 11 लोगों को इस घोटाले के लिए आरोपी बनाया है। बता दें कि विजिलेंस की ओर से कुछ समय पहले ही रोहतक, झज्जर और सोनीपत में 26 करोड़ रुपए के घोटाले को उजागर करते हुए रोहतक विजिलेंस थाने में केस दर्ज किया था। अभी अन्य जिलों की जांच भी चल रही है। पढ़िए यमुनानगर और पंचकूला में स्कॉलरिशप में कैसे हुआ घोटाला।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना