हरियाणा / 50 फीट गहरे बोरवेल में गिरी बच्ची की मौत, 18 घंटे चला रेस्क्यू; सिर के बल गिरने से मिट्‌टी में धंस गई थी

Haryana Borewell Rescue Operation: Shivani Rescued from open borewell In Karnal district’s Har Singh Pura village
Haryana Borewell Rescue Operation: Shivani Rescued from open borewell In Karnal district’s Har Singh Pura village
Haryana Borewell Rescue Operation: Shivani Rescued from open borewell In Karnal district’s Har Singh Pura village
Haryana Borewell Rescue Operation: Shivani Rescued from open borewell In Karnal district’s Har Singh Pura village
Haryana Borewell Rescue Operation: Shivani Rescued from open borewell In Karnal district’s Har Singh Pura village
X
Haryana Borewell Rescue Operation: Shivani Rescued from open borewell In Karnal district’s Har Singh Pura village
Haryana Borewell Rescue Operation: Shivani Rescued from open borewell In Karnal district’s Har Singh Pura village
Haryana Borewell Rescue Operation: Shivani Rescued from open borewell In Karnal district’s Har Singh Pura village
Haryana Borewell Rescue Operation: Shivani Rescued from open borewell In Karnal district’s Har Singh Pura village
Haryana Borewell Rescue Operation: Shivani Rescued from open borewell In Karnal district’s Har Singh Pura village

  • करनाल के हरीसिंहपुरा में रविवार दोपहर 3 बजे बोरवले में गिरी थी 5 साल की बच्ची शिवानी
  • सोमवार तड़के 3.30 बजे पहुंची एनडीआरएफ की टीम, 9 बजे बाहर निकाला गया शव

दैनिक भास्कर

Nov 04, 2019, 12:34 PM IST

घरौंडा (विवेक राणा). करनाल के हरीसिंहपुरा में रविवार को 50 फीट गहरे बोरवेल में गिरी बच्ची शिवानी को बचाया नहीं जा सका। सोमवार सुबह 9 बजे एनडीआरएफ की टीम ने शिवानी का शव निकाला। एनडीआरएफ का कहना था कि बच्ची मुंह के बल बोरवेल में गिरी थी, जिस वजह से वह मिट्टी में धंस गई। ऐसे में उसकी जान नहीं बच पाई। बच्ची रविवार को दोपहर करीब 3 बजे बोरवेल में गिरी थी।

 

खेलते-खेलते गिरी, परिजनों को रात 9 बजे पता चला
परिजन लक्ष्मण बैरागी का कहना है कि साढ़े 5 साल की शिवानी रविवार दोपहर में घर के बाहर खेल रही थी। करीब 3 बजे वह अचानक से गायब हो गई। उन्होंने आसपास देखा लेकिन शिवानी नहीं मिली। काफी देर तक तलाश करने के बाद बच्ची नहीं मिली तो उन्होंने बोरवेल से लोहे की टीन हटाई और एक मोबाइल को वीडियो मोड पर लगाकर रस्सी के सहारे नीचे तक भेजा। 

 

मोबाइल को बाहर निकालकर वीडियो देखी तो उसमें शिवानी के पैर नजर आए। रात करीब 9 बजे ग्रामीणों ने बीडीपीओ व घरौंडा पुलिस को सूचना दी। पुलिस व प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचे। पूरी रात बचाव अभियान चला। बच्ची की मां कविता की आवाज रिकॉर्ड करके भी नीचे भेजी गई ताकि बच्ची खौफ से बाहर रहे। 

 

अलसुबह 3.30 बजे पहुंची एनडीआरएफ की टीम
सोमवार अलसुबह 3.30 बजे गाजियाबाद से एनडीआरएफ की 97 सदस्यीय टीम हरीसिंहपुरा पहुंची। टीम के असिस्टेंट कमाडेंट अनिल कुमार ने बताया कि बच्ची सिर के बल गिरी थी। जिस वजह से वह मिट्टी में धंस गई थी। इसी वजह से बच्ची की जान नहीं बचाई जा सकी। हालांकि, बच्ची को बोरवेल से बाहर निकालने के बाद तुरंत करनाल के कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

DBApp

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना